मायावती बोली- चुनाव में रोडशो और पूजा-पाठ फैशन बन गया, चुनाव खर्चे में यह भी जुड़े

0
126

लखनऊ (ईएमएस)। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने चुनाव के दौरान होने वाले रोड शो व जगह-जगह पूजा-पाठ एक को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे नया चुनावी फैशन करार दिया है। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि इस पर भारी खर्चा किया जाता है। उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा उस खर्चे को प्रत्याशी के खर्च में शामिल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि किसी पार्टी द्वारा प्रत्याशी के समर्थन में रोडशो किया जाता है तो उसे भी पार्टी के खर्च में शामिल किया जाना चाहिए। साथ ही किसी भी प्रत्याशी को आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में चुनाव प्रचार पर बैन लगाने के दौरान यदि वह आम स्थान पर मंदिरों में जाकर पूजा-पाठ करता है व उसे मीडिया में बड़े पैमाने पर प्रचारित किया जाता है तो उस पर भी रोक लगनी चाहिए। आयोग इस पर भी कुछ कदम जरूर उठाए।
इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा प्रहार किया। उन्होंने कहा ‘जनता को वरगलाने के लिए देश ने अब तक कई नेताओं को सेवक, मुख्यसेवक, चायवाला व चौकीदार आदि के रूप में देखा है। अब देश को संविधान की सही कल्याणकारी मंशा के हिसाब से चलाने वाला शुद्ध पीएम चाहिए। जनता ने ऐसे बहरुपियों से बहुत धोखा खा लिया है अब आगे धोखा खाने वाली नहीं। ऐसा साफ लगता है।’ मायावती ने कहा कि मोदी सरकार की नैया डूब रही है। इसका जीता-जागता प्रमाण यह भी है कि आरएसएस ने भी इनका साथ छोड़ दिया है। इनकी घोर वादाखिलाफी के कारण भारी जनविरोध को देखते हुए संघी स्वंयसेवक झोला लेकर चुनाव में कहीं मेहनत करते नहीं नजर आ रहे हैं, जिससे मोदी के पसीने छूट रहे हैं।