Current Crime
अन्य ख़बरें ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

मंडोला को मंदसौर नहीं बनने दिया जाएगा : केसी त्यागी

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। लोनी के मन्डोला में धरनारत किसानों से मिलने जा रहे जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व सांसद केसी त्यागी, जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेंद्र त्यागी, सपा के नेता सुरेंद्र मुन्नी सहित आरएलडी के नेताओ को पुलिस ने रास्ते में ही रोक लिया। जिसके बाद पुलिस सभी को हिरासत में लेकर पुलिस लाइन पहुची। पुलिस लाइन में जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रदेश सरकार को कड़े शब्दों में चेतावनी दे डाली।
जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि सरकार का रवैया किसान विरोधी हैं। सांसद का पता नही हैं और विधायक गुटवाजी को बढ़ावा देना चाहते हैं। वो जाए और किसानों से रूबरू हो राज्य सरकार के सामने किसानो के पक्ष रखेंगे। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा के बाद में धरने में शामिल हुआ हूँ। पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि लगता हैं इमरजेंसी का दौर लौट आया हैं। सरकार पर आरोप लगाया कि किसानो की हमदर्द सरकार नही हैं । इसमे केंद्र सरकार भी शामिल हैं, देश मे मोदी सरकार में 46 फीसदी किसानों की आत्महत्या के मामले बढ़े हैं। वो अविलंब किसानों से वार्ता में आये वरना बड़े आंदोलन झेलने के लिए तैयार रहे। ये मामला संसद और विधानसभा में जाएंगा। मैं तमाम विपक्ष के नेताओ के संपर्क समय हूँ। अब संसदीय समिति भी गाव में आएगी। डीएम का व्यवहार तानाशाही तरीके का है जोकि आंदोलन को कुचलने को कह रही हैं। किसान बेमियादी अनशन पर बैठे हैं। किसी की तबियत बिगड़ने पर प्रशासन जिम्मेदार होगा। मन्डोला को मंदसौर नही बनने देंगे आल पार्टी डेलीगेशन जल्द ही मन्डोला जाएगा। इस मौके पर सपा नेता एवं पूर्व विधायक सुरेंद्र कुमार मुन्नी ने कहा कि मौजूदा भाजपा सरकार किसान विरोधी और गरीबों के लिए कष्टकारी सरकार साबित हो रही है। केंद्र से लेकर उत्तर प्रदेश तक भाजपा का शासन है।
लेकिन गरीबों को कहीं भी न्याय नहीं मिल रहा है। किसानों की आर्थिक स्थिति बदतर हो चुकी है। मंडोला के किसानो के लिए सपा पूरी ताकत के साथ खड़ी है। किसानों के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसानों के हित में अगर जान भी देनी पड़ी तो सपाई पीछे नहीं हटेंगे। गौरतलब है कि इस सारे मामले में पुलिस प्रशासन के कई बार हाथ-पांव फूलते दिखाई दिए। जब लोनी में महिलाओं ने शीर्ष नेताओं की गिरफ्तारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: