Current Crime
देश

कांग्रेस के दिवंगत नेता राजीव त्यागी की पत्नी संगीता त्यागी को मिला टिकट, शुक्रवार को करेंगी नामांकन

नई दिल्ली। कांग्रेस के दिवंगत नेता राजीव त्यागी की पत्नी संगीता त्यागी को कांग्रेस पार्टी ने उत्तरप्रदेश के साहिबाबाद विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है।

कांग्रेस ने उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए गुरुवार को 41 उम्मीदवारों की अपनी दूसरी सूची जारी कर दी है। इसमें दिवंगत कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी की पत्नी संगीता को भी गाजियाबाद के साहिबाबाद विधानसभा सीट से टिकट मिला है। संगीता त्यागी ने बताया कि बुधवार देर रात करीब 12 बजे प्रियंका गांधी ने उनसे फोन पर बातचीत की और चुनाव लड़ने को कहा। उनके कहने से ही वह चुनाव लड़ने को तैयार हुई। उन्होंने कहा कि वह शुक्रवार को अपनी सीट के लिए नामांकन दाखिल करेगी।
हालांकि पति की मौत के बाद संगीता ने राजनीत में कोई रुचि नहीं दिखाई थी। वह डीएवी स्कूल की शिक्षिका रही हैं। संगीता त्यागी ने फिलहाल पार्टी के नेताओं की सलाह पर राजनीति में आने का मन बना लिया है।
गौरतलब है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव त्यागी की दो साल पहले साल 2020 में 12 अगस्त को दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। उस समय वह एक टीवी चैनल में डिबेट का हिस्सा थे। उसी दौरान उनको दिल का दौरा पड़ा, पत्नी और बेटे ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।
संगीता त्यागी को टिकट मिलने के बाद कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया कॉर्डिनेटर संजीव सिंह ने कहा, पार्टी के एक एक प्रखर वक्ता राजीव त्यागी के विचारों और कार्यों को आगे लेकर जाने की जिम्मेदारी अब उनकी पत्नी संगीता त्यागी को मिली है। उम्मीद है वो बेहतर प्रदर्शन करेंगी।
गौरतलब है कि कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तरप्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने ये ऐलान किया गया था कि उनकी पार्टी यूपी में 40 फीसदी महिला उम्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारेगी जिसके बाद 125 उम्मीदवारों की पहली सूची में 50 महिलाओं को टिकट दिया गया था। इसके बाद गुरुवार को कांग्रेस की ओर से जारी 41 उम्मीदवारों की दूसरी सूची में 16 महिलाओं को टिकट दिया गया है। इसके साथ ही पार्टी ने उत्तरप्रदेश में अब तक 40 फीसदी युवा उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतार दिए हैं।
प्रियंका गांधी ने मंगलवार को प्रदेश की जनता से वर्चुअली संवाद करते हुए कहा था कि यूपी विधानसभा चुनाव में रोजगार एवं शिक्षा ही असली एजेंडे हैं, जिन पर युवाओं को डटे रहना चाहिए और इन्हीं मुद्दों पर की जाने वाली राजनीति को आगे बढ़ाना चाहिए। कांग्रेस पार्टी उन महिलाओं के हाथ में सत्ता देना चाहती है, जिन्होंने अपने जीवन में संघर्ष किया और जिन पर सत्ता के माध्यम से अत्याचार हुआ। कांग्रेस ने यूपी के उन्नाव की रेप पीड़िता की मां आशा सिंह को उन्नाव सदर से टिकट दिया है। वहीं सोनभद्र में आदिवासियों की आवाज उठाने वाले रामराज कोल को भी उम्मीदवार बनाया है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: