शाह के बाटला हाउस वाले बयान पर खुर्शीद ने किया पलटवार

0
108

नई दिल्ली (ईएमएस)। लोकसभा चुनाव में नेताओं की जुबानी जंग लगातार तेज होती जा रही है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के लिए बाटला हाउस मुठभेड़ को लेकर दिए गए बयान पर कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने तीखी प्रतिक्रिया की है। सलमान खुर्शीद ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि अमित शाह ने देखा होगा, लेकिन मैंने सोनिया जी को रोते हुए नहीं देखा। मैंने कहा था अगर कोई भावुक होकर कहता है मुझे ये मत दिखाओ, सरकार और पुलिस को काम करने दो तो क्या वह इसे आंसू बहाना कहेंगे? कांग्रेस नेता खुर्शीद ने आगे कहा आतंकवाद के कारण या जब किसी की अचानक मृत्यु हो जाती है और फिर कोई कुछ कहता है तो क्या उसे आंसू बहाना कहेंगे? अगर उसको रोना कहते हैं तो अभी वो समझ जाएं, रुक जाएं, वह अभी बहुत रोएंगे।
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी पर निशाना साधा कि उन्होंने सन 2008 के बाटला हाउस मुठभेड़ में मारे गए आतंकवादियों के लिए कथित तौर पर आंसू बहाए लेकिन इसमें जान गंवाने वाले पुलिसकर्मियों के लिए नहीं। उन्होंने साध्वी प्रज्ञा को लोकसभा उम्मीदवार बनाए जाने के पार्टी के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि उनके खिलाफ लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं और मालेगांव विस्फोट मामले के असली गुनहगार कानून से बच गए।
शाह ने कहा था यूपीए शासन के दौरान बाटला हाउस मुठभेड़ हुई। सोनिया गांधी ने वहां मारे गए आतंकवादियों के लिए आंसू बहाए थे, लेकिन वह उस पुलिस अधिकारी के लिए नहीं रोईं जिन्होंने इस घटना में अपनी जान गंवा दी। कांग्रेस को इसका जवाब देना चाहिए। दरअसल शाह से कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बाटला हाउस मुठभेड़ पर चर्चा करने की चुनौती देने के बारे में पूछा गया था, जिस पर उन्होंने यह टिप्पणी की।
गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की एक टीम ने दक्षिण दिल्ली के बाटला हाउस इलाके के एक फ्लैट पर छापा मारा था। पुलिस को सूचना मिली थी कि राष्ट्रीय राजधानी में 13 सितंबर 2008 के सिलसिलेवार बम धमाकों में शामिल आतंकवादी वहां छिपे हुए थे। सिलसिलेवार धमाकों के छह दिन बाद हुई इस मुठभेड़ में दो संदिग्ध आतंकवादियों और एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत हो गई थी।