कार्य निष्‍पादन और तेजी से निर्णय लेना सफलता की कुंजी: मंत्री गडकरी , एनपीसीसी का ६२वां स्‍थापना दिवस

0
66

नई दिल्ली (ईएमएस)। केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण, सड़क परिवहन, राजमार्ग और शिपिंग मंत्री नितिन गडकरी ने नई दिल्‍ली में राष्ट्रीय परियोजना निर्माण निगम (एनपीसीसी) के ६२वें स्‍थापना दिवस समारोह की अध्‍यक्षता की। एनपीसीसी जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय के अधीन अनुसूचित-बी का केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम है। इसे नवंबर २०१८ में श्रेणी-एक में मिनि रत्‍न का दर्जा दिया गया था। एनपीसीसी को आईएसओ ९००१ : प्रमाणीकरण से भी सम्‍मानित किया है। एनपीसीसी वर्ष २०१९ में नई ऊंचाइयों को छुएगा श्री गडकरी ने सफलता अर्जित करने के लिए कार्य प्रदर्शन उन्‍मुख दृष्टिकोण और तेजी से निर्णय लेने की जरूरत पर जोर दिया।
उन्‍होंने कहा कि एनपीसीसी का बहुत अच्‍छा कार्य रिकॉर्ड और तकनीकी अनुभव है। इसके पास कड़ी मेहनत और सकारात्‍मक रूख के साथ अधिक सफलता अर्जित करने की क्षमता मौजूद है। हालांकि संसाधन और प्रौद्योगिकी बहुत महत्‍वपूर्ण हैं, लेकिन एनपीसीसी जैसी निर्माण कंपनियों को ग्राहकों का विश्‍वास जीतने और अधिक लाभ अर्जित करने के लिए समय पर परिष्‍कृत परियोजनाओं के महत्‍व को समझना चाहिए। केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण राज्‍यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने एनपीसीसी को उसके ६२वें स्‍थापना दिवस के अवसर पर बधाई देते हुए उम्‍मीद जाहिर की कि यह संगठन वर्ष २०१९ में नई ऊंचाइयों को छुएगा। अभी हाल में एनपीसीसी को रेलवे के निर्माण के लिए १२,००० करोड़ मूल्‍य का कार्य आदेश मिला है।
मंत्रालय के सचिव उपेन्‍द्र प्रसाद सिंह ने कहा कि एनपीसीसी के कामकाज ने घाटे में चल रही इस कंपनी को एक लाभ कमाने वाली कंपनी बना दिया है। उन्‍होंने कहा कि गुणवत्‍ता के बारे में कोई भी समझौता किए बगैर समयबद्ध तरीके से लक्ष्‍यों को अर्जित करना सफलता की कुंजी है और इसके लिए अभी लम्‍बा रास्‍ता तय करना है।