गाय और गीता को लेकर हरियाणा सरकार की घेराबंदी में जुटे केजरीवाल

0
185

चंडीगढ़ (ईएमएस)। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के अलावा हरियाणा में आप का सिक्का जमाने की तैयारी कर ली है। इसी कड़ी में 4 साल से गाय और गीता के नाम पर राजनीति कर रही हरियाणा की मनोहर सरकार को केजरीवाल इसी मुद्दे पर घेरने की तैयारी कर रहे है। हरियाणा के गौशाला संचालकों को दिल्ली बुलाने के बाद केजरीवाल रविवार से गौशालाओं का दौरा शुरू कर रहे हैं। केजरीवाल रविवार को गांव सैदपुर अठगामा गौशाला, दिल्ली-खरखोदा रोड, सोनीपत आएंगे। इसके बाद रोहतक, हिसार और अन्य लोकसभा की गौशालाओं को देखने आएंगे। भाजपा हरियाणा में लावारिस गौवंश के लिए गौशाला बनाने, किसानों को नदियों से मुक्ति दिलवाने, गौशाला आयोग बनाने और गौमाता की सेवा के लिए कार्यक्रम चलाने के नाम पर सत्ता में काबिज हुई थी। लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि हरियाणा में 1 लाख 5 हजार से ज्यादा लावारिस गौवंश सड़कों पर घूम रहा है। संवेदनहीनता का आलम यह है कि जींद और शाहाबाद की गौशालाओं में दर्जनों गायों की मौत हो चुकी हैं।
हरियाणा गौ सेवा आयोग ने गौशालाओं को 22 करोड़ 97 लाख 71 हजार 366 रुपए की अनुदान राशि दी है। पहले 360 गौशालाएं थीं, जिनमें 2 लाख 65 हजार गौवंश थे। 3 वर्षों में 160 गौशालाएं खोलने का कार्य किया जिससे गौशालाओं में अब 3 लाख 85 हजार गौवंश का पालन पोषण हो रहा है। आंकड़ों के अनुसार खट्टर सरकार एक गाय के लिए रोजाना 39 पैसे देती है। वहीं, केजरीवाल सरकार गौशालाओं को प्रति गाय रोजाना 40 रुपए देती हैं।