Current Crime
देश

जर्मनी जा रहे कश्मीरी लेखक गिलानी को दिल्ली एयरपोर्ट पर रोका, बोले उन्हें व परिवार को खतरा

नई दिल्ली (ईएमएस)। कश्मीरी लेखक गौहर गिलानी को दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर रोक दिया गया। वह जर्मनी के बॉन में 1 से 8 सितंबर तक आयोजित एक सम्मेलन में हिस्सा होने के लिए जर्मनी जा रहे थे। गौहर गिलानी ने कहा उन्हें अपने और परिवार के लिए खतरा मसहूस हो रहा है। उन्होंने कहा कश्मीर को बोलने की आजादी है वह भी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के हकदार है।
इसके बाद गौहर गिलानी अपनी आपबीती बताई। उन्होंने कहा कि मैं इमिग्रेशन काउंटर पर रात 9 बजे से 1 बजे तक रहा। मेरा पासपोर्ट और सामान मेरे साथ नहीं था। उन्होंने मेरा सामान और पासपोर्ट देने में बहुत समय लिया। मैं 2 बजे एयरपोर्ट से बाहर निकला। इसके बाद मैं होटल लेने के लिए गया, लेकिन किसी होटल में जगह नहीं थी। मैं एक प्रकाशित लेखक, प्रसारण पत्रकार, टेलीविजन विश्लेषक और राजनीतिक टिप्पणीकार हूं। पिछले महीने मेरी बुक रिलीज हुई है। मुझे समझ नहीं आ रहा है कि मैंने कौन से अज्ञात अपराध किए हैं जिनके लिए मुझे अपने रोजगार के अधिकार, यात्रा के अधिकार और मुफ्त भाषण के अधिकार से वंचित रखा गया।
विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को निष्क्रिय किए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों से पाबंदियां हटाई जाने लगी हैं। सूत्रों के मुताबिक कश्मीर घाटी में 11 और पुलिस थानों में प्रतिबंधों में ढील दी गई है। अब 105 पुलिस थानों में से 82 में कोई पाबंदी नहीं है। इसके अलावा 29 और लैंडलाइन फोन एक्सचेंज काम करने लगे हैं जबकि 47 टेलीफोन एक्सचेंज पहले से ही सक्रिय हैं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: