Current Crime
अन्य ख़बरें बॉलीवुड

दिल्ली के डिप्टी कमिश्नर के नेक पहल में जॉन अब्राहम करेंगे सहयोग

नई दिल्ली| भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी अभिषेक सिंह, जो वर्तमान में दिल्ली में उपायुक्त के रूप में कार्यरत हैं, उन्होंने हाल ही में लोकप्रिय अभिनेत्री दीपिका सिंह और उनकी मां को इस महामारी की स्थिति में समय पर अस्पताल में एंट्री सुनिश्चित करके उनकी मदद की थी। इसके साथ ही वह नेटफ्लिक्स में प्रसारित होने वाले शो ‘दिल्ली क्राइम’ के दूसरे सीजन के साथ अपने वास्तविक किरदार को निभाने के लिए भी पूरी तरह से तैयार हैं। इस बार उन्होंने सिग्मा (एसआईजीएमए) (स्टूडेंट्स फॉर इन्वॉल्व्ड गवर्नेंस एंड म्यूचुअल एक्शन) नामक एक संगठन की शुरुआत करते हुए एक बार फिर से मिसाल कायम की हैं।

‘सिग्मा’ एक प्रकार का एक अभिनव, स्वतंत्र और स्वैच्छिक छात्रों द्वारा संचालित ‘थिंक टैंक’ है। इसे आईआईएम अहमदाबाद के छात्रों के एक समूह द्वारा आईएएस अधिकारी अभिषेक सिंह और सुश्री दुर्गा शक्ति नागपाल के साथ शुरू किया गया था। वर्तमान में इसमें भारत के प्रमुख संस्थानों जैसे कि आईआईएम बैंगलोर, आईआईएम कलकत्ता, आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी दिल्ली, सेंट स्टीफन कॉलेज और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज प्रमुख सदस्य हैं। उनका प्रमुख लक्ष्य प्रभावी और नवीन प्रशासन के लिए भारत के छात्रों के नए परिप्रेक्ष्य का लाभ उठाने के लिए एक मंच बनाना है।

फिलहाल संगठन प्रवासी श्रमिकों के कल्याण की दिशा में काम कर रही है। सिग्मा ने हाल ही में दिल्ली एनसीआर में श्रमिकों और नियोक्ताओं के लिए एकात्रा हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है, जिसका उद्देश्य श्रम मांग-आपूर्ति के बेमेल को हल करना है, जो कि पोस्ट लॉकडाउन में एक प्रमुख मुद्दा रहा है।

‘सिग्मा’ एम्प्लॉयर के ग्रुप तक पहुंचा है, जो मुख्य रूप से दिल्ली-एनसीआर में विनिर्माण और निर्माण क्षेत्र से लेबर की मांग और उनके संबंधित उद्योगों में उनकी आपूर्ति की दिशा में काम करेगा। इन नियोक्ताओं के पास अकेले मजदूरों के लिए 2,500 से अधिक रिक्तियां हैं, जिन्हें उन्होंने कौशल आवश्यकताओं, उद्योग और मांग के आधार पर प्रलेखित और वगीर्कृत किया है। एकात्रा हेल्पलाइन नंबर से श्रमिकों, ठेकेदारों और नियोक्ताओं को समान रूप से अपनी आवश्यकताओं के साथ सिग्मा तक पहुंचने में मदद मिलेगी। दिल्ली-एनसीआर और नौकरी की पेशकश करने वाले एम्प्लॉयर के लिए नौकरी के अवसरों की तलाश करने वाले श्रमिक अपने हितों, जरूरतों और अन्य चिंताओं के साथ 8800883323 पर ‘सिग्मा’ तक पहुंच सकते हैं। यह नंबर सप्ताह के सभी सातों दिनों में सुबह दस बजे से शाम सात बजे तक चालू रहेगा। फोन कॉल लेने वाले छात्र वालंटियर, मांग की सुविधा के लिए इच्छुक पार्टियों की आवश्यकताओं पर ध्यान देंगे।

सिर्फ़ इतना ही नहीं, हेल्पलाइन नंबर के लॉन्च के दौरान लोकप्रिय और प्रतिभाशाली अभिनेता जॉन अब्राहम ने आईएएस अधिकारी अभिषेक सिंह के साथ बातचीत करते हुए आवश्यकता पड़ने पर अपनी सेवा प्रदान करने का प्रस्ताव रखा। पहल पर अपने विचार साझा करते हुए अभिषेक सिंह ने कहा, “महामारी ने हमारे समाज, विशेष रूप से निचले तबके के बहुत सारे वर्गों को प्रभावित किया है। कई प्रसिद्ध कॉलेजों के छात्रों की मदद से इस पहल के जरिए स्थानीय श्रमिकों के साथ-साथ प्रवासी श्रमिकों को रोजगार आसानी से मिल सकेगी। मुझे उम्मीद है कि हम अपने लक्ष्यों को हासिल कर पाएंगे।”

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: