Current Crime
उत्तर प्रदेश

चित्रकूट जेल हत्याकांड मामले में जेल अधीक्षक, जेलर समेत पांच निलंबित

लखनऊ| उत्तर प्रदेश चित्रकूट के जिला कारागार में शुक्रवार को हुई गैंगवार के दौरान हुए हत्याकांड के मामले में यूपी सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर चित्रकूट जेल के अधीक्षक एसपी त्रिपाठी व जेलर महेंद्र पाल समेत पांच कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। महानिदेशक जेल (डीजी) आनन्द कुमार ने बताया कि चित्रकूट जेल के अधीक्षक एसपी त्रिपाठी व जेलर महेंद्र पाल समेत पांच कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। चित्रकूट जिला कारागार में नए अधीक्षक व जेलर की तैनाती भी कर दी गई है। अशोक कुमार सागर को जेल अधीक्षक और सीपी त्रिपाठी को जेलर नियुक्त किया गया है।

अधिकारियों का कहना है कि जेल में पिस्टल कैसे पहुंची, यह अभी पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो सका है। घटना की न्यायिक जांच होगी, जिसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। घटना में चित्रकूट पुलिस एफआइआर दर्ज कर रही है। पुलिस विवेचना में कई तथ्य पूरी तरह से स्पष्ट हो सकेंगे। निलंबित किए गए कर्मियों में जेल के हेड वार्डर के अलावा सुरक्षा-व्यवस्था में तैनात पीएसी का एक सिपाही भी है। डीजी जेल आनन्द कुमार का कहना है कि सभी बिंदुओं पर जांच कराई जा रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चित्रकूट जेल में दो बंदियों की हत्या तथा पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक कुख्यात की मौत के मामले को बेहद गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर घटना की जांच के लिए आयुक्त चित्रकूट डीके सिंह, आइजी चित्रकूट के. सत्यनारायण व डीआइजी कारागार मुख्यालय संजीव त्रिपाठी की संयुक्त टीम गठित की गई थी। मुख्यमंत्री ने घटना की रिपोर्ट मांगी थी।

ज्ञात हो कि चित्रकूट जिला जेल में शुक्रवार गैंगवार में मुकीम काला और मेराज अली की शार्प शूटर अंशु दीक्षित ने हत्या कर दी। हत्यारे अंशु को भी पुलिस मुठभेड़ में ढेर कर दिया गया।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: