Current Crime
ग़ाजियाबाद

लगता है जनरल ने लिया है मन में ठान, लोनी को देना चाहते हैं गुड़गांवा जैसी पहचान

वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)
गाजियाबाद। विधानसभा चुनाव के दौरान भले ही चुनाव लड़ने वालों ने लोनी को लंदन बनाने का ऐलान किया था। मगर लोनी को गुड़गांवा की तर्ज पर सुधारने का काम लोकसभा वाले करते दिखाई दे रहे हैं। लोनी एक ऐसी विधानसभा है जहां भगवा बगावत का अलाव हमेशा धधकता रहता है। यहां सियासी जंग ही भगवा बनाम भगवा दिखाई देती है। यहां विकास के मुद्दों को लेकर उद्घाटन के नारियलों में आपसी मतभेद आ जाते हैं। लेकिन जो लोनी को वास्तव में सुधारना चाहते हैं वो इन सब चीजों से ऊपर उठकर लोनी के विकास के लिए योजना बनाकर काम कर रहे हैं। लोनी ऐसी विधानसभा है जो देश की राजधानी दिल्ली से सटी है और यहां का एक बड़ा इलाका देहात का इलाका माना जाता है। यहां सड़कों पर गड्ढे हैं और गांव में विकास होना है। पिछले दिनों लोकसभा सांसद जनरल वीके सिंह ने यहां की एक बड़ी समस्या को लेकर सारे अधिकारियों के साथ बैठक की थी। मामले को सड़क मंत्रालय से लेकर मुख्यमंत्री तक ले गये और यहां पर काम शुरू हुआ। अब जनरल ने जब दिल्ली में अधिकारियों के साथ मीटिंग की तो उनका पूरा फोकस लोनी पर था। इससे लग रहा है कि जनरल का पूरा ध्यान लोनी पर है और वो लोनी को गुड़गांवा जैसी पहचान देना चाहते हैं। जब जनरल वीके सिंह ने अधिकारियों के साथ बैठक की तो मीटिंग का ऐजेंडा बता रहा है कि जनरल के फोकस में लोनी रहा है। पांच मुख्य बिन्दु रहे हैं। ये सभी लोनी से जुड़े हैं, जिनमें मेट्रो से लेकर लोनी नगर पालिका का जिक्र है।
लोनी की समस्या और समाधान पर रही बैठक
शुक्रवार को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय नई दिल्ली के सभागार में विकास के पांच मुख्य बिंदुओं पर विशेष बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान लोक निर्माण विभाग दिल्ली, गाजियाबाद विकास प्राधिकरण, दिल्ली मेट्रो रेल कॉपोर्रेशन, उत्तर प्रदेश पावर कॉपोर्रेशन लिमिटेड तथा नगर पालिका लोनी के अंतर्गत तमाम मुद्दों तथा समस्याओं के निवारण हेतु विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। साथ ही इस मौके पर गाजियाबाद के सांसद व केंद्रीय सड़क परिवहन तथा राजमार्ग राज्यमंत्री विजय कुमार सिंह(रि.) तथा अन्य अधिकारियों की उपस्थिति रही। गाजियाबाद व लोनी क्षेत्र के विकास के लिए विशेष रूप से चर्चा करते हुए क्षेत्रवासियों की जरूरत व समस्याओं को अवगत कराया गया। विद्युत आपूर्ति व प्रकाशमय सड़कों के लिए ट्रांसफार्मर और लाइट लगाने हेतु केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिया ताकि जनता को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। इसी दरम्यान सम्बंधित विभागों में राष्ट्र में चल रहे विकासात्मक कार्यों की समीक्षा करते हुए आगामी तैयारियों के लिए निर्देश दिए गए। इसके अतिरिक्त तमाम राजमार्गों का विस्तार तथा उनमें सुधार को लेकर भी तमाम सम्मानित अधिकारियों के साथ विस्तारपूर्वक चर्चा की गई।
झुग्गी-झोपड़ी से लेकर गोबर तक पड़ेगा वास्ता
रास्ते को लेकर जब काम चल पड़ा है तो यहां रास्ते के रास्ते में बाधा बन रही कई चीजों से वास्ता पड़ेगा। जब जनरल वीके सिंह ने जीडीए से लेकर दिल्ली पीडब्ल्यूडी और लोनी के अधिकारियों के साथ बैठक की तो यह खुलासा भी हुआ। चार लेन के इस राजमार्ग में एक बाधा झुग्गी झोपड़ी भी बताई जाती है। दिल्ली पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा बताया गया कि फुटपाथ वाले रास्ते को पूरी तरह से झुग्गी-झोपड़ी से अतिक्रमित किया गया है। दिल्ली लोक निर्माण विभाग 9 नवम्बर को इस अतिक्रमण को हटाने के लिए लिख चुका है लेकिन यह अभी तक पैंडिंग है। वहीं लोनी की तरह एक बड़ी समस्या गोबर को लेकर है। इस हाईवे पर कूड़ा और गोबर डाले जाते हैं। राष्टÑीय राजमार्ग प्राधिकरण बता चुका है कि इनके निकास की व्यवस्था की जाये। लोनी नगर पालिका परिषद को कहा जा चुका है कि इस ड्रेन को निर्माण के दौरान और निर्माण के बाद मेंटेन किया जाये। दो से तीन आउटफॉल ड्रेन बनाने की जरूरत है। वहीं बिजली विभाग को लेकर भी बताया गया है कि ट्रांसफार्मर और बिजली के खम्भे एक बड़ी बाधा है। इन्हें शिफ्ट किया जाना है। दिल्ली मेट्रो द्वारा भी यहां पिलर बनाये जाने के कारण कन्स्ट्रक्शन काम बाधित हो रहा है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: