Current Crime
अन्य ख़बरें उत्तर प्रदेश ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

वैशाली क्षेत्र में लॉक डाऊन का सख्ती से पालन कराने के दिये निर्देश

गाजियाबाद। वैशाली क्षेत्र को कोरोना संक्रमण से बचायें रखने में जिला प्रशासन कोई कोताही नही बरतना चाहता है , जिसके लिए वैशाली क्षेत्र में प्रशासन प्राथमिकता पर लॉक डाऊन को और अधिक प्रभावी / सख्ती से लागू करा रहा है । वैशाली क्षेत्र में कोरोना संकमण को सफलतापूर्वक एवं प्रभावी ढंग से प्रतिबन्धित किये जाने के उद्देश्य एवं जनहित में जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने पूरे वैशाली क्षेत्र में सैक्टर स्कीम लागू की है। सैक्टर स्कीम के तहत वैशाली क्षेत्र को चार सैक्टरो और 02 जोन में विभाजित कर प्रत्येक सैक्टर में एक मजिस्ट्रेट और एक पुलिस अधिकारी और स्वास्थ्य विभाग के पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती की गयी । क्षेत्र में आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई का कार्य , सामूहिक रूप से सधन सेनेटाइजेशन की कार्यवाही फायर ब्रिगेड की गाडियों के माध्यम से कराना , कन्टेन्मेंट प्रोटोकाल को पूर्ण कराना , सैम्पुल कलैक्शन करना , दिल्ली आवागमन करने वाले लोगों पर पैनी दृष्टि रखना , मास्क न लगाने वालों और सार्वजनिक स्थलों पर थूकने इत्यादि पर जुमार्ने की कार्यवाही सुनिश्चित कराना , लोगों में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराना और लोगों की काउसलिंग करने का दायित्व सैक्टर प्रभारी व उसके साथ गठित टीम को सौंपा गया है । इसी कम में आज जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के साथ वैशाली क्षेत्र में सैक्टर स्कीम लागू होने के पहले ही दिन क्षेत्र का निरीक्षण किया और सैक्टर स्कीम के तहत प्रशासन की तैयारियों / कार्यवाहियों का जायजा लिया । वैशाली क्षेत्र में सैक्टर स्कीम लागू होते ही प्रशासन द्वारा स्वयं की देखभाल और कोरोन संक्रमण से बचाव हेतु उपाय की जानकारी भाईक माध्यम से लोगों को दी जा रही है तथा आज पहले दिन सम्पूर्ण क्षेत्र में फॉयर ब्रिगेड की 03 बड़ी गाड़ियों के माध्यम से सेनेटाईजेशन की कार्यवाही सुनिश्चित करायी गयी तथा नगर निगम की टीम द्वारा पूरे क्षेत्र में फॉगिंग की कार्यवाही भी सुनिश्चित करायी गयी । क्षेत्र के प्रत्येक सैक्टरों में 1-1 मेडिकल टीम तैनात की गयी है , जो यहां आने – जाने वाले लोगों की थर्मल स्वीनिंग करने के साथ – साथ लोगों को सेनेटाईज्ड भी कर रही है तथा प्रत्येक टीमों को लक्ष्य दिया गया है कि वह कम से कम 150 घरों में जाकर लोगों के स्वास्थ सम्बन्धित जानकारी जैसे – बुखार , खांसी , सांस लेने में तकलीफ इत्यादि बिन्दुओं पर जाँच करेगी । इसके अतिरिक्त सैक्टर स्कीम के तहत प्रत्येक सैक्टर में 1-1 मेडिकल टीम का गठन किया गया है . प्रत्येक टीम में एक एमबीबीएस डाक्टर , 1 लैब टैक्नीशियन , 1 फार्मेसिस्ट एवं 1 सेनेटाईजेशन हेतु टीम लगायी गयी है , जो अपने – अपने क्षेत्रों में लोगों की रैण्डम सैम्पुलिंग कराकर जांच कर रही है । आज सैक्टर स्कीम के लागू होने के पहले दिन स्वास्थ विभाग की टीम ने 232 सैम्पुल जांच हेतु लिये गये । सम्पूर्ण क्षेत्र के प्रत्येक सैक्टर में आपातकालीन स्थिति से निपटने हेतु 1-1 एम्बुलेंस लगायी गयी है । इसके अलावा वैशाली से प्रतिदिन दिल्ली अथवा अन्य स्थानों पर आवागमन करने वाले लोगों पर भी सतर्क दृष्टि रखी जा रही है , ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनसे यह अपील की जा रही है कि ये यथासंभव यहीं पर आवासित रहे । निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने लॉक डाऊन को और सशक्त करने के लिए अपर नगर मजिस्ट्रेट तृतीय / इंसीडेन्ट कमाण्डर को निर्देश दिये , ताकि दिल्ली प्रान्त से होने वाले अनावश्यक आवागमन पर रोक लगाई जा सकें । इसके अतिरिक्त उन्होंने आयुष मंत्रालय , भारत सरकार के निदेर्शों के कम में कोविड -19 संकट के दौरान स्वयं की देखभाल और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए आयुर्वेदिक उपाय के पैम्पलेट्स को लोगों के घरों पर पहुंचाने के निर्देश अपर नगर मजिस्ट्रेट तृतीय / इंसीडेन्ट कमाण्डर को दिये । विदित है कि जिला प्रशासन ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए सबसे पहले खोडा क्षेत्र में सैक्टर स्कीम लागू की थी , जहां इसके सकारात्मक परिणाम देखने को मिले थे । इसके पश्चात लोनी क्षेत्र में प्रशासन ने सैक्टर स्कीम लागू कर रखी है । सैक्टर स्कीम को जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने नॉर्थ ईस्ट व शाहदरा दिल्ली से भी लागू करने की सिफारिश की थी ।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: