Current Crime
स्पोर्ट्स

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने स्पेन को 3-0 से हराकर शानदार वापसी की

टोक्यो । टोक्यो ओलंपिक खेलों में भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने अपने तीसरे ही मैच में स्पेन को 3-0 से हराकर शानदार वापसी की है। भारतीय टीम की जीत में ड्रैगफ्लिकर रूपिंदर पाल सिंह की अहम भूमिका रही। रूपिंदर ने दो गोल किये। रूपिंदर ने 15वें और 51वें मिनट जबकि सिमरनजीत सिंह ने 14वें मिनट में एक गोल किया। इस जीत के साथ ही भारतीय टीम पूल ए में दूसरे स्थान पर आ गयी है। पहले नंबर पर ऑस्ट्रेलिया है।
भारतीय टीम ने स्पेन के खिलाफ हुए मुकाबले में एक इकाई के तौर पर खेलते हुए जीत दर्ज की। कप्तान मनप्रीत सिंह की भारतीय टीम ने शुरुआत से ही विरोधी टीम पर दबाव बनाया और अधिकतर समय गेंद अपने कब्जे में रखी। नौवें मिनट में भारत को बढ़त बनाने का मौका मिला पर मनप्रीत के पास को सिमरनजीत गोल में बदल नहीं पाये। स्पेन की टीम ने इसके तीन मिनट बाद ही आक्रमण करते हुए 12वें मिनट में पहला पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया जिसे वह गोल में बदल नहीं पायीं।
पहले क्वार्टर के अंतिम क्षणों में भारत ने तेजी से हमले किये। टीम को इसका फायदा भी मिला अमित रोहिदास के पास पर सिमरनजीत ने एक गोल दाग दिया। भारत को अंतिम मिनट में लगातार तीन पेनल्टी कॉर्नर मिले। तीसरे पेनल्टी कॉर्नर पर हरमनप्रीत के शॉट पर गेंद स्पेन के डिफेंडर से टकराई और भारत को पेनल्टी स्ट्रोक मिला जिसे रूपिंदर ने गोल में बदलकर टीम की बढ़त को दोगुना कर दिया। दो गोल से पिछड़ने के बाद स्पेन ने दूसरे क्वार्टर में भारतीय रक्षा पंक्ति पर हमले तेज कर दिये। इस दौर अधिकतर समय खेल भारतीय हाफ में खेला गया। स्पेन को इस दौरान तीन पेनल्टी कॉर्नर मिले पर भारतीय रक्षा पंक्ति ने इन्हें विफल कर दिया।
अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने विरोधी टीम के सभी हमले नाकाम कर दिये। दो गोल की बढ़त के बाद भारतीय टीम चौथे और अंतिम क्वार्टर में रक्षात्मक खेल दिखाकर दिखाया। स्पेन ने इस बीच दबाव डालना जारी रखा। भारत को 51वें मिनट में मैच का चौथा पेनल्टी कॉर्नर मिला जिसे रूपिंदर ने गोल में बदलने में कोई गलती नहीं करते हुए भारत को 3-0 से बढ़त दिला दी जो अंत तक बरकरार रही। स्पेन ने वापसी के कई प्रयास किया। टीम को इससे 53वें मिनट में लगातार तीन पेनल्टी कॉर्नर भी मिले पर वह उन्हें गोल में बदल नहीं पायी। स्पेनिश ड्रैगफ्लिकर पाउ क्युमादा की भारतीय रक्षा पंक्ति के सामने एक न चली। स्पेन को अंतिम क्षणों में भी एक पेनल्टी कॉर्नर मिला पर वह उसका भी लाभ नहीं उठा पायी।
भारतीय टीम ने पूल ए में ओलंपिक में अपने अभ्यान की शुरुआत न्यूजीलैंड पर 3-2 की जीत से शुरु की थी पर दूसरे ही मैच में उसे ऑस्ट्रेलयाई टीम के हाथों 1-7 की करारी हार का सामना करना पड़ा था। अब स्पेन के खिलाफ मिली शानदार जीत से भारतीय टीम लगता है उस झटके से उबर गयी है। वहीं दूसरी ओर
स्पेन की टीम अब तक इस टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं जीत पायी है। अपने पहले मैच में उसे अर्जेन्टीना ने 1-1 से ड्रॉ पर रोका था जबकि दूसरे मैच में उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-4 से हार का सामना करना पड़ा था। भारतीय टीम अब अपने अगले मैच में गुरुवार को गत ओलंपिक चैंपियन अर्जेन्टीना से खेलेगी।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: