Current Crime
देश

मंगोलिया की तेल आवश्‍यकता की तीन-चौथाई हिस्‍से की पूर्ति करेगा भारत: मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान

नई दिल्ली (ईएमएस)। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा इस्‍पात मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने मंगोलिया में प्रस्‍तावित तेल रिफाइनरी परियोजना की सहायता के लिए निर्मित अवसंरचना सुविधाओं के कमीशनिंग समारोह में भाग लिया। समारोह में मंगोलिया के प्रधानमंत्री उखनाजिन खुरेलसुख, छह कैबिनेट मंत्रियों तथा डरर्नोगोबि प्रांत के राज्‍यपाल ने भी हिस्‍सा लिया। मंत्री ने कहा कि ‘यह महत्‍वपूर्ण समारोह हमारे द्विपक्षीय व्‍यापार एवं निवेश संबंधों में एक नया अध्‍याय खोलने का रास्‍ता प्रशस्‍त करेगा। हम दोनों देश भगवान बुद्ध की विरासत और लोकतंत्र के आदर्शों में समान रूप से विश्‍वास करते हैं। भारतीय सहायता के साथ 1.5 एमएमटी तेल रिफाइनरी परियोजना का निर्माण हमारी मित्रता का एक उज्‍जवल उदाहरण है। मुझे यह बताते हुए हर्ष हो रहा है कि मंगोलिया के आग्रह पर भारत ने एक बिलियन डॉलर की प्रतिबद्ध राशि के अलावा 236 मिलियन डॉलर ऋण की अतिरिक्‍त सहायता मंगोलिया को दी है। मुझे प्रसन्‍नता है कि पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय का सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम इंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड मंगोलिया में इस प्रतिष्ठित रिफाइनरी परियोजना के लिए परियोजना प्रबंधन सलाह सेवाएं उपलब्‍ध करा रहा है। इस परियोजना के पूर्ण हो जाने पर यह मंगोलिया की तेल आवश्‍यकता की तीन-चौथाई हिस्‍से की पूर्ति करेगा। भारत इसके बुनियादी क्षेत्र के विकास में मंगोलिया के साथ साझेदार बनकर प्रसन्‍न है, जैसा कि मंगोलिया की सरकार और लोगों ने प्राथमिकता दर्शायी है। भारत मंगोलिया की सरकार और लोगों के साथ कम करने के लिए प्रतिबद्ध है, जिससे कि परस्‍पर समृद्धि के लिए हमारी रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत बनाया जा सके। धर्मेन्‍द्र प्रधान सितम्‍बर, 2019 में मंगोलिया के राष्‍ट्रपति की भारत की राजकीय यात्रा की आगे की कार्रवाई के रूप में एक आधिकारिक और व्‍यावसायिक प्रतिनिधिमंडल के साथ तीन दिनों के मंगोलिया के दौरे पर हैं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: