गुजरात में दलितों का दमन बंद नहीं हुआ तो करेंगे आंदोलन : चंद्रशेखर

0
55

नई दिल्ली (ईएमएस)। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने गुजरात में दलित समुदाय के खिलाफ अत्याचार बढ़ने का आरोप लगाते हुए राज्य में बड़े पैमाने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी है। मेहसाणा जिले के लोहर गांव में उच्च जाति के लोगों द्वारा दलितों का कथित तौर पर बहिष्कार किए जाने का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य में इस तरह की कई घटनाएं हुई हैं। दलित समुदाय के एक युवक की बारात निकलने के बाद यह घटना हुई थी। इस घटना के बाद इलाके में तनाव पैदा हो गया और उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने गांव का दौरा किया। भीम आर्मी प्रमुख ने दलित युवक से शुक्रवार को मुलाकात की। उन्होंने अरावली जिले के एक गांव की एक अन्य घटना का जिक्र किया, जहां पिछले हफ्ते कथित तौर पर उच्च जाति के लोगों ने एक दलित दूल्हे की बारात पर पत्थर फेंके थे। इस घटना के चलते हिंसक प्रदर्शन हुए।
उन्होंने कहा जब दलितों के खिलाफ अत्याचार बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री और सरकार कुछ नहीं कर रही है। दोषी अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ये घटनाएं संविधान के मूल सिद्धांतों का उल्लंघन करती हैं। उन्होंने कहा यदि राज्य सरकार ने इसे दुरूस्त करने का कदम नहीं उठाया, तो हम आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे। राज्य में दलित समुदाय को यह नहीं सोचना चाहिए कि वह संख्या में कम है। यदि जरूरत पड़ी तो अन्य राज्य से उनके भाई बंधु भी उनका साथ देंगे और राज्य में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन शुरू करेंगे।