हिंदू महासभा ने छात्रों का निलम्बन वापस पर जताई नाराजगी

0
22

अलीगढ़ (ईएमएस)। अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष गजेंद्र पाल सिंह आर्य ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कश्मीरी छात्रों का निलंबन वापस लेने व राष्ट्रद्रोह के केस में कार्रवाई पर ढिलाई बरतने पर नाराजगी जताई है। साथ ही एक विवादित पोस्टर भी जारी किया है।
पोस्टर में कहा गया है कि विश्वविद्यालय से मन्नान वानी जैसे छात्र पैदा हो रहे हैं। यहां सिमी जैसे संगठन का बीजारोपण होता है। जिस एएमयू में सरकार का अरबों रुपये खर्च होता है, उसकी यह तस्वीर है। भाजपा सरकार भी घुटने टेक रही है। मन्नान पर शोक जताने वालों पर नरमी बरती जा रही है। जिन्ना की तस्वीर भी नहीं हट रही है। पोस्टर जारी होते समय महानगर अध्यक्ष हरिशंकर शर्मा, महानगर उपाध्यक्ष अभिषेक गुप्ता, महानगर महामंत्री सचिन शर्मा, लक्ष्मी नारायण पांडेय, काशी विश्वनाथ पांडेय, निरुपम कन्हैया, राहुल गुप्ता, जयवीर शर्मा मौजूद रहे।
अमुवि में हावी हो गई राजनीति
आतंकी मन्नान वानी के मारे जाने के बाद 11 अक्टूबर को एएमयू के केनेडी हॉल के लॉन में जमे कश्मीरी छात्रों ने क्या किया? यह प्रॉक्टोरियल टीम से बेहतर कोई नहीं जान सकता। टीम ने ही छात्रों को जनाजे की नमाज पढऩे से रोका था? हाथापाई तक हुई। इंतजामिया ने इसके बाद ही शोधार्थी वसीम अयूब मलिक व अब्दुल हसीद मीर को निलंबित किया था। छात्रों के निलंबन व उन पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होने से अलीगढ़ से लेकर कश्मीर तक हंगामा खड़ा हो गया था। कश्मीर में भी विरोध प्रदर्शन हुए। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सतपाल मलिक व केंद्र की इस पर नजर थी। उनके दखल के बाद ही छात्रों का निलंबन वापस हो गया।