दिल्ली विवि में फिर से चुनाव कराने पर संशय बरकरार, हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा

0
28

नई दिल्ली (ईएमएस)। फर्जी डिग्री विवाद में घिरे दिल्ली विश्वविद्यालय के अध्यक्ष अंकिव बसोया के इस्तीफे के बाद कई छात्र संगठनों ने फिर से चुनाव कराने की मांग की थी। जिस पर दायर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने आज फैसला सुरक्षित रख लिया। इससे पहले एनएसयूआई ने दिल्ली विश्वविद्यालय से नए चुनाव कराने या अध्यक्ष पद चुनाव में रनर अप रहे एनएसयूआई छात्र शनि चिल्लर को अध्यक्ष बनने की मांग की थी। संगठन ने अपनी मांगों को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन को एक ज्ञापन भी सौंपा था। जबकि आइसा ने अंकिव बसोया पर जालसाजी का मुकदमा करने और जेल भेजने की मांग की थी। आइसा नेता कंवलप्रीत कौर ने कहा था कि यह मामला सिर्फ चुनाव तक सीमित नहीं है। अंकिव बसोया की डिग्री जाली थी, इस तरह उसके ऊपर जालसाजी का मुकदमा चलाया जाना चाहिए और उसे जेल भेजना चाहिए।