मुख्यमंत्री ने दिया मानवता का परिचय

0
224

बे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वर्ष-2012 चुनाव में जो वायदे किये, उन पर सरकार कितनी खरी उतरी है, यह तो सरकारी आंकड़ो को देखकर ही बताया जा सकता है, लेकिन अभी हाल में सीएम अखिलेश यादव ने लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में कुछ लोगों को सम्मानित किया, उसे देखकर उनकी मानवीयता क्या होती है इसका एहसास चंद लम्हों में ही हो गया। (ghaziabad latest news) सीएम अखिलेश यादव शायद अकेले ऐसे मुख्यमंत्री होंगे जिन्होंने ऐसा कदम उठाया हो क्योंकि अब से पहले भी जनता पर अत्याचार होते रहे हैं और अत्याचार करने वाले पुलिस कर्मियों को सजा भी दी गई है, लेकिन जैसा कदम सीएम अखिलेश यादव ने उठाया शायद ऐसा कदम किसी ओर सीएम ने उठाया हो। सीएम के इशारे पर आरोपी दरोगा को सस्पैंड किया गया और पीड़ित के पास लखनऊ के जिलाधिकारी व एसएसपी स्वयं पहुंचे और टाइपराइटर उपहार स्वरूप भेट किया। यह मानवता का ही परिचय था, इसके बाद एक कार्यक्रम के दौरान सीएम ने पीड़ित कृष्णकुमार को सम्मानित किया। कृष्णकुमार के सम्मानित होने के साथ मीड़िया क्षेत्र के फोटो जर्नलिस्ट आशुतोष त्रिपाठी को भी सीएम अखिलेश यादव ने सम्मानित किया। सीएम ने इस कार्यक्रम के दौरान नोएडा के हरेंद्र कुमार को भी सम्मानित किया, और सम्मान स्वरूप पांच लाख रुपये भी दिए। सीएम के इस कार्यक्रम में वह सब देखने को मिला जो पहले देखने को नहीं मिला। सीएम ने 15 वर्ष की उम्र में पीएचडी की उपधि हासिल करने वाली सुषमा को भी सम्मानित किया, इसके अलावा बलिया के एक नाविक को एक दर्जन लोगों की जान बचाने के लिए सम्मानित किया गया। करंट क्राइम मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की इस पहल का स्वागत करता है और आशा व्यक्त करता है कि आगे भी सीएम ऐसे कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों की हौंसला अफजाई करते रहेंगे, क्योंकि जब प्रदेश का मुखिया इस तरह की विरली पहल करेंगे तो निश्चित रूप से समाज में एक नई विचारधारा पैदा होगी और प्रदेश के विकास में जनता का भी सहयोग बढेगा, और प्रदेश निरंतर विकास की गाथाएं लिखने की ओर अग्रसर होगा। धन्यवाद! मनोज गुप्ता