Current Crime
विदेश

कोरोना के खौफ के बीच अमेरिकियों में 68 फीसदी बढ़ी गन और कारतूस की खरीददारी

न्यूयार्क। कोरोना वायरस का प्रकोप बढऩे से हैंड सैनिटाइजर और टॉयलेट पेपर की मांग बढऩे की खबरें आपने सुनी होंगी। जब हाथ साफ रखने पर सारा जोर दिया जा रहा हो तो इन 2 चीजों की बिक्री में तेजी समझ में भी आती है, लेकिन अमरीका में कोरोना वायरस के कारण हैरान करने वाली यह बात सामने आई है कि अमेरिका में गन और गोली की खरीदारी कई गुना बढ़ गई है। इस समय वे लोग भी गन और गोलियां खरीद रहे हैं, जिन्होंने जिंदगी में पहले कभी ये हथियार नहीं खरीदे।
एक ऑनलाइन एम्युनिशन स्टोर ‘एमो.कॉम’ के अनुसार 23 फरवरी से लेकर 4 मार्च के बीच उसके यहां हथियारों की बिक्री 68 प्रतिशत बढ़ गई। उन्होंने बताया कि उत्तर कैरोलिना में सबसे अधिक हथियार खरीदे गए। एक अन्य विक्रेता ‘बुलेटप्रूफ जोन’ के मालिक केविन लिम ने बताया कि उनकी बिक्री 50 से 100 प्रतिशत तक बढ़ गई है। पेंटालूमा स्थित स्पोर्ट्समैन आर्म्स के मालिक गैब्रियल मौघम ने बताया कि उनके ग्राहकों ने उन्हें बताया कि वैसे तो वे हथियार पसंद नहीं करते, लेकिन अगर ये हथियार आपको सुरक्षित महसूस करवा सकते हैं तो इसमें बुरा क्या है।
उन्होंने बताया पहले दुनिया में और अब अमरीका में अनिश्चितता का माहौल है। किसी को कुछ नहीं मालूम क्या होने वाला है, इसलिए ऐसे में अच्छा है कि अपने को सुरक्षित कर लिया जाए, बजाय बाद में पछताने के। शार्ले हयट गन के मालिक लैरी हयट ने बताया कि अधिकतर जो हथियार खरीदे जा रहे हैं, वे आत्मरक्षा वाले हैं, जिसमें एके-15 जैसी राइफल शामिल हैं।
एक और चौंकाने वाली बात वाशिंगटन स्थित बेलव्यू में वेड्स ईस्टसाइड गन्स के इंटरनेट सेल्स मैनेजर कोल गॉगराहन ने बताई। उन्होंने बताया उनके अधिकतर नए ग्राहक एशियाई मूल के हैं। कोरोना वायरस का प्रकोप बढऩे से उनके स्टोर की बिक्री 6 गुना बढ़ गई है। उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने ग्राहकों से सुना है कि वे अपनी जातिगत पहचान के कारण शिकार नहीं बनना चाहते।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: