Current Crime
देश

50 करोड़ मोबाइल कनेक्शन बंद होने की खबर को सरकार ने किया खारिज

नई दिल्ली (ईएमएस)। 50 करोड़ मोबाइल कनेक्शन बंद होने की खबर को सरकार ने पूरी तरह से खारिज कर दिया। डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन और यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूडीआई) ने उस ख़बर को पूरी तरह से नकार दिया है जिसमें कहा गया था कि 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल कनेक्शन बंद हो सकते हैं। दूरसंचार विभाग और यूडीआई ने ज्वॉइंट स्टेटमेंट जारी कर इन खबरों का खंडन किया है।
मीडिया में खबर आई थी कि देश भर में 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल फोन बंद हो सकते हैं जिसकी वजह केवाईसी को बताया गया था। ऐसा कहा जा रहा था कि इन 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल कनेक्शन्स की केवाईसी दोबारा करनी पड़ सकती है। जिन 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल कनेक्शन पर बंद होने का खतरा मंडरा रहा है, उन्हें आधार वेरिफिकेशन पर एक्टिवेट किया गया है और उनमें कोई नया आइडेंटिफिकेशन नहीं दिया गया है।
यह स्थिति आधार पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आई है, जिसमें कोर्ट ने प्राइवेट कंपनियों के किसी व्यक्ति की यूनीक आईडी का इस्तेमाल कर सत्यापन प्रक्रिया करने पर रोक लगा दी है। अधिकारियों ने संकेत दिया है कि नए सिरे से केवाईसी कराने के लिए सरकार पर्याप्त समय देगी। टेलीकॉम सेक्रेटरी अरुणा सुंदराराजन ने बुधवार को मोबाइल कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की। इस मीटिंग में इस मुद्दे का हल निकालने और विकल्पों पर चर्चा की गई। टेलीकॉम डिपार्टमेंट इस मुद्दे को लेकर यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया के साथ भी विचार-विमर्श कर रहा है। वहीं मोबाइल कंपनियों का कहना है कि वे इस मुद्दे पर टेलीकॉम डिपार्टमेंट के निर्देश का इंतजार कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि टेलीकॉम डिपार्टमेंट इस मामले में जल्द ही कंपनियों को नया आदेश दे सकता है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: