Current Crime
अन्य ख़बरें ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

दुनिया के सबसे ऊंचे गांव कोमिक में लहरा दिया गाजियबादियों ने तिरंगा

15 हजार फीट की ऊंचाई नहीं डगमगा पाई इनके जज्बे को
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। आप इस समय विश्व के सबसे खतरनाक रास्ते पर चल रहे हैं। हिमाचल प्रदेश की गगनचुम्बी पहाड़ियों पर लिखे यह शब्द अक्सर पर्यटकों के होश उड़ा देते हैं। लेकिन जिनमें जोश जज्बा और जुनून होता है, उनके लिए हमेशा डर के आगे जीत होती है। हम बात कर रहे हैं विश्व के सबसे ऊंचे गांव कोमिक की, जहां पर गाजियाबादियों ने 15 अगस्त को तिरंगा लहराकर जिले का नाम रोशन कर दिया है। 10 अगस्त को पर्वतारोही गगन सेठी के नेतृत्व में 17 गाजियाबाद के प्रमुख चेहरे विश्व के सबसे ऊंचे गांव पर झंडा फहराने के लिए निकले थे। इन 17 में से सात ही चेहरे कोमिक पर झंडा फहराने में कामयाब हुए।
भाजपा के पार्षद प्रवीण चौधरी, पूर्व महानगर उपाध्यक्ष भाजपा राजीव शर्मा, राहुल चौधरी डैनी, विकास गर्ग, सुरेश गुप्ता, टीएन पंथार ने ये उपलब्धि अपनी जान की बाजी लगाकर हासिल की। देश के प्रति इनके इस जज्बे को सलाम करने के लिए गाजियाबाद की जनता अब इनकी वापसी की इंतजार कर रही है ताकि वह इन सबका जबरदस्त तरीके से स्वागत कर सके। साढ़े 15 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित इस गांव की खास बात यह है कि यहां पर केवल 70 परिवार ही रहते हैं। आक्सीजन की यहां पर काफी कमी है और मोबाइल सिग्नल भी नहीं आते। मिशन कोमिक पर निकले गाजियाबादियों के लिए ये उपलब्धि आसानी से नहीं आई। हर उस वक्त जब गाड़ी गहरी खाईके पास से निकला करती थी, तो सांसे थम जाया करती थी। सबसे ऊंचे गांव पर तिरंगा लहराने वाले राजीव शर्मा और प्रवीण चौधरी ने बताया कि देश के जजबे से उन्हें ये प्रेरणा मिली। तमाम खतरों के बावजूद उनका हौंसला नहीं डिगा। एक वक्त तो ऐसा आया जब काजा के रास्ते पर एक बहुत बड़ा पहाड़ टूट कर गिर गया।
कोमिक की ओर जाने वाला मार्ग पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। गाड़ियों के जाने का कोई रास्ता नहीं रहा था। तमाम कठनाईयों के हमारी टीम ने पर्वत श्रृंखलाओं को पैदल पार किया। टीम के सदस्यों का कहना है कि वह आज गर्व महसूस कर रहे हैं। मिशन में काफी रोचक रहा, गाजियाबाद पहुंचकर अपने मित्रों और शुभचिन्तकों के साथ पूरी यात्रा की यादें शेयर करेंगे। जय हिन्द।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: