Current Crime
ग़ाजियाबाद

गाजियाबाद का एक बड़ा कॉलेज बना पांच बच्चों की मौत का कारण!

-मुख्यमंत्री कार्यालय से आई जांच

गाजियाबाद। अगर इस मामले में जरा भी हकीकत है तो एक शिक्षण संस्थान अमानवीयता की मिसाल पेश करने जा रहा है। मामला गाजियाबाद के एक बहुत बड़े कॉलेज का है। कॉलेज पर आरोप लगा है कि उसकी वजह से पांच बच्चों की जान चली गई है। ये आरोप कॉलेज में काम करने वाले सफाई कर्मचारी ने लगाये हैं। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री कार्यालय से जांच डीआईओएस को सौंप दी गई है। जिला विद्यालय निरीक्षक राजसिंह यादव ने मामले की गंभीरता को देखते हुए कॉलेज के प्राचार्य और निदेशक से तीन दिन के भीतर जबाव तलब किया है। खास बात यह है कि जिलाधिकारी विमल कुमार शर्मा की विशेष रूप से नजर है।
इस मामले में पीड़ित ने कॉलेज पर आरोप लगाया है कि वह यहां पर पांच फरवरी वर्ष-1981 से कार्य कर रहा था और 30 दिसंबर वर्ष-2014 को उसे वेतन की बकाया राशि ग्रेच्यूटी और फंड के बीस लाख रुपये दिए बगैर जबरन नौकरी से निकाल दिया गया। आर्थिक तंगी की वजह से घर के पांच बच्चों की मौत हो चुकी है। पीड़ित का आरोप है कि उसका पूरा परिवार तबाह हो चुका है। कॉलेज को कई बार कहने पर भी बकाया राशि का भुगतान नहीं किया जा रहा है। कॉलेज के अध्यक्ष और सचिव से कई बार गुहार लगाई गई है, लेकिन कोई कार्रवाई इस ओर नहीं की गई है। पीड़ित का कहना है कि वह आर्थिक तंगी की वजह से बीमार रहता है। इस पूरे प्रकरण पर डीआईओएस राजसिंह यादव ने कॉलेज प्रबंधकों से तीन दिन के भीतर रिपोर्ट मांगी है। प्रशासन इस मामले को बेहद गंभीरता से लेकर चल रहा है। कॉलेज के स्पष्टीकरण और प्रशासन की जांच के बाद स्पष्ट हो जायेगी कि मामले में कितनी सच्चाई है।
—————

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: