Current Crime
गुजरात देश

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री माधवसिंह सोलंकी का 93 साल की आयु में निधन

गांधीनगर | गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री माधवसिंह सोलंकी का शनिवार को गांधीनगर स्थित उनके आवास पर निधन हो गया। वह 93 वर्ष के थे। सोलंकी के निधन के बाद राज्य सरकार ने शनिवार को राजकीय शोक की घोषणा की है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए घोषणा की कि सोलंकी का अंतिम संस्कार पूरे राजनयिक सम्मान के साथ किया जाएगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर कर कहा, “श्री माधवसिंह सोलंकी जी एक दुर्जेय नेता थे, जो दशकों से गुजरात की राजनीति में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे थे। उन्हें समाज के लिए की गई शानदार सेवा के लिए हमेशा याद किया जाएगा। उनके निधन से दुखी हूं। उनके बेटे भरत सोलंकी से बात करके अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं। ओम शांति। गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र चुडास्मा ने भी शोक व्यक्त किया है और शनिवार को उनके आवास पर जाकर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा, “पिछले 20 सालों से यह मेरी आदत रही है कि मैं सोलंकी जी के जन्मदिन पर उनके घर जाकर उनके साथ समय बिताता था। पिछली बार 15 नवंबर को मिला था तो उन्हें अच्छे स्वास्थ्य के लिए शुभकामनाएं दी थीं।कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी शोक जताया है।
दिग्गज कांग्रेसी नेता सोलंकी का जन्म 30 जुलाई, 1927 को आनंद जिले के बोरसाद तहसील के पिलुंदरा गांव में हुआ था। वे दिसंबर 1976 से 1990 के बीच 3 बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे।
मिड-डे मील नाम से जो पहल उन्होंने शुरू की थी, उसे पूरे देश में सफलतापूर्वक अपनाया गया। उन्होंने गुजरात में बालिका पोषण योजना (कन्या केलवानी) और गुजरात औद्योगिक विकास निगम (जीआईडीसी) भी शुरू की थी।
सोलंकी तुष्टीकरण की राजनीति के लिए चलाई गई योजना क्षत्रिय हरिजन आदीवासी मुस्लिम (केएचएएम) के लिए भी चर्चा में रहे। उनके नेतृत्व में गुजरात राज्य विधानसभा की 183 में से 149 विधानसभा सीटें जीतने का रिकॉर्ड भी है।
सोलंकी ने एक पत्रकार के रूप में अपना करियर शुरू किया था, फिर वकील बने और इसके बाद राजनीति में प्रवेश किया। पढ़ने के शौकीन सोलंकी ने अपने घर में एक लाइब्रेरी बनवाई थी, जिसमें वे घंटों बिताते थे।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: