भाजपा के पूर्व विधायक जयंती भानुशाली की गोली मारकर हत्या

0
262

अहमदाबाद (ईएमएस)| भाजपा के पूर्व विधायक और उपाध्यक्ष जयंती भानुशाली की चलती ट्रेन में शार्प शूटरों ने गोली मारकर हत्या कर दी| कच्छ से भाजपा के कद्दावर नेता पर हमला उस समय हुआ जब वह सयाजीनगरी एक्सप्रेस से भुज से अहमदाबाद जा रहे थे, उन पर कटारिया और सूरजबारी स्टेशन के बीच अज्ञात हमलावरों ने हमला कर दिया| भानुशाली को दो गोलियां लगी जिनमें से एक उनके सीने में और दूसरी उनकी आंख में लगी| उनकी मौके पर ही मौत हो गई| भानुशाली कच्छ जिले की अबडासा सीट से विधायक रह चुके हैं|
जानकारी के मुताबिक जयंती भानुशाली सयाजीनगरी एक्सप्रेस के एच-1 कोच में जी-19 बर्थ पर सो रहे थे| उस वक्त कटारिया-सूरजबारी स्टेशन के बीच अज्ञात हमलावर ट्रेन में सवार हुए और जयंती भानुशारी को आंख और सीने में गोली मारकर फरार हो गए| घटना के वक्त पवन मौर्य नामक यात्री कोच में मौजूद पवन मौर्य नामक यात्री से पुलिस पूछताछ कर रही है| पवन मौर्य का कहना है कि जब वह बाथरूम गया तब जयंती भानुशाली पर हमला हुआ| बाथरूम से लौटकर देख तो भानुशाली लहूलुहान पड़े थे| जयंती भानुशाली का शव पोस्टमार्टम के लिए अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में लाया गया है| इस बीच जयंती भानुशाली की पत्नी ने आरोप लगाया है उनके पति की हत्या छबील पटेल ने करवाई है| जयंती भानुशाली की हत्या करवाने के बाद छबील पटेल अमेरिका भाग गए है| जयंती भानुशाली के भाई ने छबील पटेल आरोप लगाया है| उन्होंने कहा कि छबील पटेल ने उनके भाई को रेप केस में फंसाया, जिसमें सफल नहीं होने पर अन्य दो-तीन साजिश कीं| छबील पटेल कहते थे कि राजनीति से जयंती भानुशाली का “र” ही निकाल दूंगा| छबील पटेल के भाई ने उन पर भी फायरिंग किए जाने की आशंका जताई है| बता दें कि छबील पटेल भी कच्छ भाजपा के नेता हैं और छबील पटेल और जयंती भानुशाली के बीच काफी समय टकराव चल रहा था|
कच्छ जिले के भाजपा उपाध्यक्ष भानुशाली के खिलाफ पिछले साल सूरत की एक लड़की ने रेप का आरोप लगाया था| हालांकि, शिकायत के कुछ वक्त बात लड़की ने गुजरात हाईकोर्ट में एक बयान दर्ज कराया| सूरत की एक लड़की ने सरथाना पुलिस स्टेशन में जयंती भानुशाली के खिलाफ शिकायत की थी| सूरत क्राइम ब्रांच इस मामले की जांच कर रही थी| लड़की ने अपनी शिकायत में कहा कि फैशन डिजाइनिंग पाठ्यक्रम में प्रवेश के सिलसिले में एक रिश्तेदार के माध्यम से उसकी जयंती भानुशाली से मुलाकात हुई थी| भानुशाली ने प्रवेश दिलवाने के बहाने उसे अहमदाबाद बुलाया था, वह ट्रेन से गांधीनगर गई| इसके बाद अपनी कार में बैठाकर उसे अश्लील वीडियो दिखाए गए और फिर बाद में उसके साथ बलात्कार भी किया गया| हांलाकि बाद में युवती ने गुजरात हाईकोर्ट से कहा कि वह मामला नहीं चलाना चाहती| युवती ने कहा था कि वह इस मामले में आगे कोई कार्रवाई नहीं चाहती हैं और दोनों के बीच समझौता हो गया है|