एचटीसी का ब्लॉकचेन-आधारित एक्सोडस फोन इसी माह फेस्टिव सेल में ई-कॉमर्स कंपनियों ने की 15 हजार करोड़ की बिक्री रिलायंस इंडस्ट्रीज की हैथवे और डेन को खरीदने की तैयारी एथेनॉल पर सरकारी समर्थन की आशा से शुगर स्टॉक्स 20 फीसदी तक उछला दक्षिण कश्मीर में सुरक्षाबलों ने दो जिलों से 30 पत्थरबाजों को किया गिरफ्तार जेएनयू के छात्र नेता कन्हैया कुमार ने एम्स में डॉक्टरों से भिड़े, प्रकरण दर्ज सबरीमाला पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ प्रदर्शन, जंतर-मंतर पर निकला मार्च राहुल और सिंधिया को दिखाया महाभारत के रथ पर सवार, राहुल सारथी- सिंधिया बने अर्जुन अब प्लेन की तरह ट्रेनों में भी होगा ब्लैक बॉक्स गैर भाजपा कार्यकर्ताओं का गठबंधन हो गया, नेताओं में होना बाकी – अजित सिंह
Home / लाइफस्टाइल / हर मर्ज की एक ही है दवा- सक्रिय जीवनशैली

हर मर्ज की एक ही है दवा- सक्रिय जीवनशैली

नई दिल्ली (ईएमएस)। इसमें कोई शक नहीं है कि हर रोग की एक ही दवा है, सक्रिय जीवनशैली। अगर आप बीमारियों से दूर रहना चाहते हैं, तो अपनी निष्क्रिय और गतिहीन जीवनशैली को त्याग दीजिए। सिर्फ इतने भर से आप दिल से जुड़ी बीमारियों, स्ट्रोक, डायबीटीज और यहां तक की कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से भी बचे रह सकते हैं। एक्सर्साइज के जरिए न सिर्फ आप अपना वजन घटा सकते हैं, बल्कि मसल्स बना सकते हैं, हड्डियों और जॉइंट्स को मजबूत बना सकते हैं। एक्सर्साइज करने से न सिर्फ बेचैनी और तनाव कम होता है, बल्कि डिप्रेशन से बाहर निकलने में भी मदद मिलती है। सक्रिय जीवनशैली के लिए आपको दिनभर जिम में पसीना बहाने की जरूरत नहीं है। हाल ही में किए गए एक अध्ययन में सामने आया है कि हर दिन सिर्फ 22 मिनट की चहलकदमी से आपकी सेहत को काफी लाभ दे सकती है। अमेरिकन जर्नल ऑफ प्रिवेंटिन मेडिसिन में प्रकाशित इस अध्ययन के नतीजे बताते हैं कि वैसे लोग जो हर दिन कम से कम 30 मिनट की वॉकिंग करते हैं उनकी मौत की आशंका 20 प्रतिशत कम हो जाती है उन लोगों की तुलना में जिनकी जीवनशैली निष्क्रिय । इस अध्ययन को पूरा होने में करीब 13 साल का वक्त लगा। स्टडी के ऑथर ने अपने निष्कर्ष में लिखा कि वॉकिंग यानी पैदल चलना अपने आप में एक परफेक्ट एक्सर्साइज है, क्योंकि यह एक सिंपल एक्शन है, जिसके लिए किसी तरह के उपकरण की जरूरत नहीं है। इसे हर उम्र का व्यक्ति कर सकता है।

Check Also

रोज दही खाएंगे तो नहीं होगी दिल की बीमारी: शोध

वॉशिंगटन (ईएमएस)। दही का सेवन करने से दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *