2019 तक हर घर में बिजली-पानी की सुविधा-मुख्यमंत्री रामगढ़ राज्य का पूर्ण विद्युतीकृत जिला घोषित

0
12

रांची,(ईएमएस)।झारखंड में रामगढ़ ऐसा पहला जिला बन गया है,जहां सभी घरों में बिजली कनेक्शन उपलब्ध करा दिया गया है। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शुक्रवार को रामगढ़ के रजरप्पा स्थित सांडी गांव स्थित डी.ए.वी. स्कूल मैदान में आयोजित एक समारोह में रामगढ़ को पूर्ण विद्युतीकृत जिला घोषित किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 132/33केवी ग्रिड सबस्टेशन और 132केवी डबल सर्किट ट्रांसमिशन लाईन का भी शिलान्यास किया। समारोह के दौरान घर-घर पानी पहुंचाने के लिए 300 करोड़ रुपये की परियोजनाओं समेत 700 करोड़ रुपये की योजनाओं का उदघाटन एवं शिलान्यास किया गया।
समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार 2019 तक हर घर में बिजली-पानी की सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार से लोग मुख्य रूप से तीन-चार चीज ही चाहते है, पानी, बिजली, सड़क और सड़क। पूरे राज्य में हर घर में दिसंबर तक बिजली पहुंचा दी जाएगी, जबकि घर-घर में बिजली पहुंचाने का काम किया जा रहा है, सड़कों का भी जाल बिछाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि विधि-व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए कठोर कदम उठाये गये है, किसी को भी कानून को हाथ में लेने की छूट नहीं दी जाएगी। कोयला खनन क्षेत्रों में सफेदपोशों पर नकेल कसने के लिए प्रवर्त्तन निदेशालय के साथ मिलकर ऐसे लोगों की अवैध संपत्ति को जब्त करने की कार्रवाई चल रही है। उन्होंने कहा कि कोयला खनन क्षेत्रों में अब गुंडागर्दी नहीं चलेगी, विस्थापितों को रोजगार मिले इसके लिए को-ऑपरेटिव का गठन कर स्थानीय जरूरतमंद परिवारों को रोजगार के साधन उपलब्ध कराये जाएंगे।
पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने बताया कि हर घर में बिजली कनेक्शन पहुंचाने के साथ ही रामगढ़ जिला हर खेत में सिंचाई सुविधा के लिए बिजली पहुंचाने का लक्ष्य सबसे पहले पूरा करेगा। उन्होंने बताया कि सबसे महत्वपूर्ण ग्रामीण पेयजलापूर्ति योजना के तहत शत-प्रतिशत घरों में भी बिजली पहुंचाने की योजना है, इस लक्ष्य को 2019 तक पूरा कर लिया जाएगा। चंद्रप्रकाश चौधरी ने बताया कि हर पंचायत को पक्की सड़क से जोड़ दिया गया है, अब हर गली को भी पक्की सड़क से जोड़ने का लक्ष्य पूरा किया जाएगा। इसके अलावा रामगढ़ में बन रहे राज्य के एक मात्र इंजीनियरिंग कॉलेज का उदघाटन भी इस वर्ष पूरा हो जाएगा और पढ़ाई भी शुरू होगी।
उर्जा विभाग के प्रधान सचिव नितिन मदन कुलकर्णी ने बताया कि रामगढ़ जिला राज्य का पहला ओडीएफ जिला घोषित हुआ था और अब पहला पूर्ण विद्युतीकृत जिला घोषित हुआ है। उन्होंने इस काम में पंचायत प्रतिनिधियों और स्थानीय प्रशासन की ओर से किये गये प्रयास की सराहना की।
इस मौके पर झारखंड बिजली वितरण निगम के एमडी राहुल पुरवार ने बताया कि राज्य में छूटे हुए घरों में बिजली कनेक्शन देने का काम तेजी से चल रहा है। उन्होंने बताया कि 24घंटे निर्बाद्ध बिजली आपूर्ति व्यवस्था को सुनिश्चित करने की दिशा में भी तेजी से काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि 11 अक्तूबर को बोकारो जिले में शत प्रतिशत घरों में बिजली देने को लेकर आयोजित कार्यक्रम का उदघाटन किया जायेगा। इसी तरह 15 नवंबर तक धनबाद, कोडरमा, हजारीबाग, लोहरदगा और देवघर में सभी घरों में बिजली पहुंचा दी जायेगी। 31 दिसंबर तक राज्य के सभी 24 जिलों के शत प्रतिशत घरों में बिजली कनेक्शन दे दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने सौभाग्य योजना के तहत हर घर में बिजली देने की शुरुआत 10 अक्तूबर 2017 को की थी। उस दौरान झारखंड में कुल 64 लाख 80 हजार 241 घरों में से 47 लाख 40 हजार 939 घरों में ही बिजली कनेक्शन था। 17 लाख 39 हजार 302 घरों में बिजली नहीं थी। 10 अक्तूबर 2017 से लेकर चार अक्तूबर 2018 तक नौ लाख 46 हजार 167 घरों में बिजली कनेक्शन दे दिया गया है. अब सात लाख 93 हजार 135 घरों में कनेक्शन देने का काम बचा है. इसमें रामगढ़ जिले के सभी घरों में कनेक्शन दे दिया गया है।