दम लगा के हईशा

0
257

बिहार में राजनैतिक सरगर्मियां बढ़ी हुई हैं, और चुनाव आयोग ने सितंबर अक्टूबर में चुनाव कराये जाने की पूरी योजना भी तैयार कर ली है। कई चरणों में चुनाव कराये जायेंगे, बिहार चुनाव सम्पन्न होने के बाद उत्तर प्रदेश में चुनाव की सरगर्मियां यकायक बढ़ जायेंगे। (ghaziabad hindi news) चुनाव के संबंध में सभी राजनैतिक दलों ने उत्तर प्रदेश को लेकर अपनी रणनीति बनानी शुरू कर दी है। भाजपा हो या फिर कांग्रेस या फिर बसपा सभी ने रणभूमि में उतरने से पहले चक्रव्यूह रचना शुरू कर दिया है, इसके साथ ही उत्तर प्रदेश की सत्तारढ़ समाजवादी पार्टी की ओर से भी चुनाव संबंधी तैयारियां जोर शोर से की जा रही हैं। सपा सरकार के मुखिया अखिलेश यादव भी भली भॉति जानते हैं कि चुनाव में अब ज्यादा समय नहीं बचा है और तैयारियां अभी से शुरू करनी होंगी और जनता से सपा नेता सीधा संवाद कायम करें ताकि सरकार ने जनता के लिए जो कुछ किया है, उसे समय रहते जनता को बताया जा सके। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के सभी सपा नेता एवं संगठन पदाधिकारियों को भी आगामी चुनाव के संबंध में दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं और स्पष्ट कर दिया गया है कि वह जनता के बीच जायें और उनके दुखदर्दो को दूर करने के साथ उनके साथ सौहार्द कायम करें। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह ने भी सिलसिलेवार कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों संग बैठके शुरू कर दी हैं और पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं से सूबे में पार्टी का हालचाल जाना जा रहा है और क्या कमियां हैं उन्हें दूर करने की रणनीति भी तैयार की जा रही है। आगामी दिन सूबे में राजनैतिक पारा चढ़ेगा और सभी दलों ने जहां अपनी तैयारियों को अमली जामा पहनाने का काम शुरू कर दिया है, वहीं सपा कार्यकर्ताओं को भी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एवं नेताजी मुलायम सिंह यादव की मनोस्थिति को ध्यान में रखते हुए सपा सरकार की नीतियों को जन जन तक पहुंचाने के काम में दम लगाके हंईसा के साथ जुट जाना चाहिए। सूबे के प्रत्येक जिले में जब कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी अपनी जिम्मेदारियों को भली भॉति समझ लेगा, तभी आगामी 2017 का मिशन सहीं मायनों में सफल हो सकेगा।