Current Crime
ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

तहसील दिवस में शिकायतों का हुआ निस्तारण

गाजियाबाद। जिलाधिकारी विमल कुमार शर्मा ने अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये हैं कि तहसील दिवसों में प्राप्त होने वाली जनता की शिकयतों का निस्तारण पूरी गुणवत्ता परख ढंग से किया जायें, ताकि कोई भी व्यक्ति अपनी शिकायतों के लिए बार-बार परेशान न हों। उन्होंने कहा कि शिकायतों के निस्तारण की सूचना भी शिकायत कर्ता को समय से उपलब्ध कराना भी सुनिश्चित करें।
तहसील दिवस के अवसर पर सामूदायिक केन्द्र में जन शिकायतों को सुनकर उनका मौके पर समाधान करने के निर्देश श्री शर्मा ने दिए । उन्होंने कहा कि तहसील दिवसों की प्रासंगिता को समझे और अधिकारी गण समय से तहसील दिवसों में उपस्थित होकर जनता की शिकायतों का त्वरित निदान करें। उन्होंने कहा कि शिकायतों के निस्तारण की गुणवत्ता की परख भी टीम बनाकर करायी जायें।
टीमों में उस सम्बन्धित विभाग के अधिकारी को जिसने शिकायत का निस्तारण किया है, को न रख कर अन्य विभाग के अधिकारियों को रखा जायें। ताकि सही प्रकार से निस्तारण की गुणवत्ता की क्रॉस चैकिंग हो सकें। उन्होंने निर्देश दिये कि जिन अधिकारियों का निस्तारण मानक के अनुरूप तथा गुणवत्ता परख नही पाया जायेगा उनके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी तथा पुन: शिकायत का निस्तारण गुणवत्ता परख करना होगा।
विधुत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि शासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में जो विद्युत का सैडयूल जारी किया है उसी के अनुरूप विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करें। ताकि किसान भाईयों को सिचांई आदि के लिए पानी की उपलब्धता बरकरार रह सकें। कृषि विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश दिये कि कृषि सहायक किसानों के द्वार तक पहुॅचे, और उन्हें कृषि की तमाम नयी तकनीक की जानकारी दें ताकि हमारे किसान भाई खाद्यान उत्पादन में नये कीर्तिमान बना सकें। उन्होंने कहा कि कृषि रक्षा अधिकारी भी किसानों तक पहॅुचे और उन्हें फसलों के लिए कीटनाशकों की विस्तार से जानकारी दें। जिलाधिकारी ने कहा कि सिचाई विभाग भी नहरों और राज वाहों में पानी की उपलब्धता बरकरार रखें।
तहसील दिवस के मौके पर 35 शिकायतें प्राप्त हुयी जिसमें पुलिस विभाग की 15, राजस्व विभाग की 5 , नगर निगम की 7, गाजियाबाद विकास प्राधिकारण की 3, विद्युत विभाग की 01, समाज कल्याण विभाग की 02, जिला चिकित्सा विभाग की 01 शिकायत मुख्य रूप से थी । तहसील दिवस में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र सिंह, मुख्य विकास अधिकारी कृष्ण करूणेश, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अजय अग्रवाल, डीएफओ जोगा सिंह, परियोजनार निदेशक डीआरडीए सहित पुलिस और प्रशासन के विभिन्न अधिकारी भी उपस्थित थे।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: