गुरु रविदास मंदिर तोड़ने के विरोध में दलित समाज सड़कों पर उतरा

0
187

जालंधर (ईएमएस)। भारतीय संत समाज के शीर्ष आध्यात्मिक संत श्री गुरु रविदास महाराज जी के दिल्ली स्थित गुरुद्वारा साहिब को केजरीवाल सरकार द्वारा तोड़ने के आदेश के बाद रविदास समुदाय में आक्रोश है। इस फैसले के खिलाफ रविदास समुदाय से संबंधित लोगों ने मकसूदां, बूटा मंडी, लम्बा पिंड चौक, फगवाड़ा, होशियारपुर, टांडा, लुधियाना में धरना देकर हाईवे पर जाम लगा दिया। इस दौरान मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने स्थिति का जायजा लिया।
रविदास समुदाय के युवा नेता बलविंदर कुमार राहुल ने बताया कि दिल्ली सुप्रीम कोर्ट के द्वारा दिल्ली में स्थित रविदास मंदिर को तोड़ने के आदेश दिए गए हैं, जिसकी प्रक्रिया शुरू भी हो चुकी है। इस कारण समुदाय में काफी रोष है। वहीं जाम की वजह से हाईवे से गुजरने वाले वाहन चालकों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इस दौरान रविदास चौक पर पहुंचे एसडीएम को रविदास समुदाय के लोगों ने ज्ञापन सौंपा। फिलहाल सोमवार तक मिले आश्वासन के बाद लम्बा पिंड चौक से धरना उठा लिया गया है। दूसरी तरफ जंडूसिंघा चौंक में भी रविदासिया समाज के लोग धरने पर बैठे हुए हैं। डीएसपी आदमपुर गुरदेव सिंह, एसएचओ आदमपुर जरनैल सिंह, पतारा के एसएचओ रघबीर सिंह, जंडू सिंघा चौंकी प्रभारी रघुनाथ सिंह मौके पर मौजूद हैं। जाम की स्थिति से निपटने के लिए होशियारपुर से आने वाले वाहन चालकों को कपूर पिंड मार्ग से भेजा जा रहा है। जालंधर वैस्ट से विधायक सुशील रिंकू भी गुरुद्वारा तोड़ने के विरोध में उतर आए हैं। उन्होंने भाईचारे के लोगों के साथ मिलकर दिल्ली सरकार का पुतला फूंककर प्रदर्शन किया।