डेयरी प्लांट्स का होगा कायाकल्प

0
59

जयपुर (ईएमएस)। प्रदेश में जर्जर हालत में पहुंच चुके डेयरी प्लांट्स का कायाकल्प होगा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत आठ डेयरी प्लांट्स पर करोड़ों की राशि खर्च होगी इतना ही नहीं 25 करोड़ की लागत से गाय के दूध की प्रोसेसिंग यूनिट की भी स्थापना होगी। अरसे से अपने जीर्णोद्धार का इंतजार कर रहे प्रदेश के डेयरी प्लांट्स के अब दिन फिरेंगे जर्जर अवस्था में पहुंचे चुके डेयरी प्लांट्स का जल्द ही कायाकल्प होगा।
हाल ही में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बनी राज्यस्तरीय कमेटी ने इन डेयरी प्लांट्स के सुदृढ़ीकरण की मंजूरी दे दी है मंजूरी के मुताबिक प्रदेश में डेयरी विकास पर करीब 71 करोड़ की राशि खर्च होगी इस राशि से प्रदेश की अलग-अलग डेयरियों के आठ प्लांट्स का आधारभूत विकास होगा। सुदृढ़ीकरण के ये कार्य होंगे उनमें जयपुर के दूदू में 25 करोड़ की लागत से काऊ मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट बनेगी, पाली में 5.99 करोड़ की राशि से प्लांट का सुदृढ़ीकरण होगा, गंगानगर में डेयरी विकास पर 3.33 करोड़ खर्च होंगे, नागौर में डेयरी विकास पर 3 करोड़ रुपये खर्च होंगे, जोधपुर में 5.60 करोड़ की राशि डेयरी विकास पर खर्च होगी, बाड़मेर में 12.89 करोड़ की राशि डेयरी विकास के लिए स्वीकृत की गई है, कोटा में 2.28 करोड़ रुपये डेयरी प्रोजेक्ट पर होंगे खर्च, भीलवाड़ा में डेयरी विकास के विशेष कार्यक्रम पर 12.80 करोड़ खर्च होंगे। 26 करोड़ की राशि चालू वित्तीय वर्ष में ही खर्च की जायेगी वहीं पाली में 2 करोड़ 99 लाख, गंगानगर में 1 करोड़ तीन लाख, नागौर में 80 लाख और जोधपुर में 1 करोड़ 13 लाख की राशि 2018-19 में खर्च की जाएगी. इसी तरह बाड़मेर में 3 करोड़ 32 लाख, कोटा में 1 करोड़ 14 लाख, भीलवाड़ा में 3 करोड़ 20 लाख और दूदू में 12 करोड़ 49 लाख की राशि इस साल में खर्च होगी