द. अफ्रीका- मित्तल की सहयोगी कंपनी पर पर्यावरण नियमों को अनदेखा करने का आरोप

0
57

जोहानिसबर्ग (ईएमएस)। दुनिया के शीर्ष इस्पात कारोबारी आर्सेलर मित्तल की दक्षिण अफ्रीकी कंपनी (एएमएसए) के विरुद्ध पर्यावरण प्रदूषण नियमों को अमदेखा करने का आरोप लगा है। यह लक्ष्मी निवास मित्तल की अगुवाई वाली दिग्गज इस्पात कंपनी आर्सेलर मित्तल की अनुषंगी है। कंपनी का जिस शहर में प्रमुख परिचालन है वहां की समूची आबादी पर इसका प्रभाव पड़ने की चिंता के बीच वैंडरबिजल्पार्क क्षेत्रीय अदालत ने एएमएसए के पर्यावरण प्रबंधक को 26 जून को अदालत में पेश होने को कहा है। कंपनी पर दक्षिण अफ्रीकी वायु गुणवत्ता कानून के उल्लंघन को लेकर आपराधिक आरोप लगे हैं। वैंडरबिजल्पार्क शहर की स्थापना सार्वजनिक क्षेत्र की पूर्व इस्पात कंपनी इस्कॉर ने की थी। अब इस शहर की समूची आबादी एएमएसए पर निर्भर है। इसकी स्थापना करीब दो दशक पहले की गई थी। मित्तल ने पहले इस संकटग्रस्त कंपनी को संकट से निकलने में मदद की और बाद में उसका अधिग्रहण कर लिया।