Current Crime
उत्तर प्रदेश ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर देश विचार

उठते सवालों का करंट (26 अप्रैल)

  • क्यों कहा कहने वाले ने कि महागुरु राजनीति की चमक में कहीं पीछे तो नहीं छोड़ रहे हैं उन चेहरों को? जिन्होंने सब को छोड़कर किया महागुरु का सहयोग? क्यों कहा कहने वाले ने कि मौजूदा हालातों को देखकर लग रहा है कि किसी अपने खास को पहुंचा दी है गुरूजी ने जबरदस्त चोट? क्यों कहा कहने वाले ने कि कहीं सही और गलत वाले सिस्टम को पहचानने में आ तो नहीं गया है खोट?
  • क्या भगवा प्रधान को हो गया है इस बात का जबरदस्त तरीके से एहसास? राजनीति करनी है तो जनरली चाहिए होगा अब साहब का ही साथ? क्या प्रधान ने कर ली है यह बात अपने मन में धारण? क्या इस बात का दिया है उन्होंने कई जगह उदाहरण? क्यों कहा कहने वाले ने कि प्रधान जी का साहब से दिख रहा है लगाव? मगर साहब कितनी मोहब्बत करते हैं कोई देगा इस बारे में सुझाव?
  • क्या कांग्रेस के डैडी से जब हुआ राशन वाली किट के थैले में सोनिया जी और राहुल जी के फोटो नहीं छापने पर सवाल? तब क्या डैडी ने हेलो हेलो कहकर बड़ी ही खूबसूरती से दी यह बात टाल? क्यों कहा कहने वाले ने कि इसलिए उनका नाम राजनीति में लिया जाता है अलग ही तरह से? इसलिए आज भी चलता है गाजियाबाद की राजनीति में सुरेंद्र गोयल का नाम?
  • क्या आईएएस अधिकारी वाले प्रकरण में पवन मावी ने जमकर सराहा लोनी से पूर्व विधायक मदन भैया की मुहिम को? क्या कहा कि इस मुद्दे को बड़ा बनाने में भैया जी का है बहुत बड़ा योगदान? क्यों कहा कहने वाले ने की मिस्टर मावी के शब्द बता रहे हैं कि वह अब स्थापित कर रहे हैं नए समीकरण बैठाकर कुछ और ही पहचान?
  • क्या पूर्व सांसद सुरेंद्र गोयल ने भगवान श्रीनाथजी का उदाहरण देकर दिया फोटो खिंचवाकर मदद करने वालों के लिए बड़ा संदेश? क्या कहा कि मैंने श्रीनाथजी से सीखा है बहुत कुछ? वहां जब कोई व्यक्ति दान करता है तो उस पर लिखा होता है श्रीनाथजी ने दिया और श्रीनाथजी ने लिया? अगर यह बात सब धारण करें तो समझ लो समझने वालों ने बहुत कुछ सीख लिया?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि जिस तरह सोशल चौकीदार केके शर्मा जनसेवा में कर रहे हैं अपने रात दिन एक? कर रहे हैं बहुत ही काम नेक? अपनी जेब से पैसे खर्च करके भोजन उपलब्ध करा रहे हैं गरीबों को? उसे देखकर हमें लगता है कि उन्हें भी आने वाले मेयर, विधानसभा और लोकसभा चुनावों की करनी चाहिए तैयारी? क्यों कहा कहने वाले ने की सोशल चौकीदार जनप्रतिनिधि बन सकते हैं इसमें किस बात की है परेशानी?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि महागुरु के ज्यादा शॉट्स वाली वीडियो को लेकर केवल नहीं किया गया है लाइन पर वाले प्रिय नेता को इग्नोर? क्यों कहा कहने वाले ने कि प्रिय कश्यप के भी लगने थे इस फिल्म में शॉट? प्रिय कश्यप ने कई लोगो से मंगवाए थे वीडियो इसमें लगाने के लिए? मगर उनके भी अरमानों को पहुंचा दी पहुंचाने वाले ने चोट? क्या युवा खेमा चर्चा कर रहा है कि जनरली साहब को इग्नोर करके भी नहीं पेश की गई अच्छी रिपोर्ट?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि कार्यालय पर भारी भगवा कमांडर के खास त्यागी जी राशन वितरण का पास फेसबुक पर डाल कर ना जाने क्या कराना चाह रहे थे फील? हमें तो ऐसा लगा जैसे राशन वाला पास नहीं बल्कि उन्हें वर्ल्ड टूर का वीजा आ गया हो मिल? क्यों कहा कहने वाले ने की चलो जो भी हो त्यागी जी अच्छा तो कर रहे होंगे फील?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि राज वाले नगर की कमिश्नरी के चौधरी साहब ने फिर से कर लिया व्हाट्सएप ग्रुप क्रिएट? क्यों कहा कहने वाले ने कि जिन चेहरों को ग्रुप से गया था तोड़? उन्हें फिर से लिया गया है जोड़? क्यों कहा कहने वाले ने की युवा राघव और कई चेहरों ने ग्रुप बनते ही उसे दिया है छोड़?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि किसी के मन में है नव से पार्षद का चुनाव लड़ने की नीत? मगर जिससे वह करता है वह सबसे ज्यादा प्यार? उसके साथ फोटो नहीं खिंचवाते है यार? क्यों कहा कहने वाले ने कि गर्ग साहब नाराज ना हो जाए इसलिए गोयल साहब से दूरी बड़े ही सोच समझकर चलता है यह किरदार? मगर करता है यह हकीकत में गोयल साहब से ही प्यार?

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: