Current Crime
ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

उठते सवलों का करंट (23/10/2020)

  • क्यों कहा कहने वाले ने कि कुछ दिन पहले स्टेट प्रेसिडेंट आए थे गाजियाबाद में? यहां बात शुरू हुई और बदल गई विवाद में? क्यों कहा कहने वाले ने कि कोई पूरे गौरव से देना चाहता था त्यागी जी के साथ मिलकर साफा और तलवार? मगर नगर प्रेसिडेंट ने जो सिस्टम बनाया था उससे सीन था पूरा बाहर? सुना है इसी बात को लेकर शुरू हो गई तकरार? जिसके चश्मदीद थे पाराशर और कसाना? कुछ दिन पहले का है यह फसाना?
  • राशन वाली दुकान के मुद्दे पर आ गया क्या नामित जी का जवाब? क्या कहा कि सरकार ने राशन की दुकान में भेजे हैं चने फ्री में बांटने को लेकर? मगर मुझे शिकायत मिली थी कि इनके वसूले जा रहे हैं पैसे? नामित वालों ने कहा कि सरकार हमारी है भला गलत काम हो सकते हैं कैसे? नामित ने कराया खुलकर अपने क्रांतिकारी तेवरों का आगाज? कहा चौहान आए या चौधरी? इस बात से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता? हम किसी से नहीं डरते? हमारा ठाकुराना है अंदाज?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि क्रांतिकारी वैश्य पार्षद ने उठा दिया है जबरदस्त सवाल? अपनी टीम में दिया है संदेश की क्या अगर मेले नहीं लगेंगे तो रामलीला का मंचन नहीं होगा? मतलब जो होना है वह मेला लगने से ही होगा? इसका मतलब मंचन तभी होगा जब मेला होगा? यानी कि सब कुछ सीन है कमाई का? कई आयोजक खामोश बैठ गए हैं? ऐसा क्या हुआ जो रामलीला मंचन से हो गया मामला रुसवाई का? मामला क्या जोड़ा है सिर्फ कमाई का?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि गाजियाबाद के एक रामलीला मंचन से बना रहे हैं कई चेहरे अतिथि बनने को लेकर दूरी? क्यों कहा कहने वाले ने कि एक तो यहां पर मचा हुआ है चंदे को लेकर विवाद? दूसरा यहां के विवादित चेहरों से भी बनाना चाहते हैं कई चेहरे दूरी? क्यों कहा कहने वाले ने कि देख लो आप इस रामलीला मंचन के हालात? बहुत कम चेहरे इस बार अतिथि के तौर पर शामिल हो रहे हैं? इससे पुख्ता और क्या हो सकती है बात?
  •  क्यों कहा कहने वाले ने कि नव वाले नीत की दुनिया से होकर वह मजबूर चला? अब वह बहुत दूर बहुत दूर बहुत दूर चला? क्यों कहा कहने वाले ने की प्रभारी बनकर नहीं हुआ उसका रिश्तो में शहर वालों से भला? उसने बदल दिया है अब अपना रूट? सुना है वह अब गढ़मुक्तेश्वर की ओर चला? उसने अपने साथियों को दे दिया है संदेश कि तुम्हारे साथ रहकर कौन सा हो गया मेरा भला?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि आईपीएल में लगने वाले सट्टे को लेकर तो आपने सुनी होगी कई बार बात? मगर हम आपको बता रहे हैं वेस्टर्न वाली ताजपोशी को लेकर दो वैश्य नेताओं की ताजपोशी को लेकर जबरदस्त सट्टा लगाया जा रहा है साहब? क्यों कहा कहने वाले ने की इस सट्टे में हैं उस वैश्य नेता का नाम है हाई? जिसके पास आज तक कोई भी सरकारी ताजपोशी नहीं है आई? समझने वाले समझ गए हैं किस की बात की जा रही है भाई?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि पंचायत चुनाव को लेकर बनाने वाले माहौल बना रहे हैं बहुत ही तगड़ा? चर्चा है कि प्रभारी बड़ा होता है या फिर संयोजक होता है अगड़ा? क्यों कहा कहने वाले ने कि इस पूरे गेम में मेरठ गाजियाबाद से डेरा डालने वाले दो चेहरे भी हैं शामिल? वह संदेश दे रहे हैं जो होता है संयोजक? वही होता है प्रभारी से ज्यादा काबिल?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि ठाकुर लैंड को लेकर छिड़ गया है डॉक्टर साहब से कोई जमीनी विवाद? सुना है मामला गूंज गया है अब भगवा गढ़ में? जिसकी कभी भी सुनाई दे सकती है आवाज? क्यों कहा कहने वाले ने कि डॉक्टर साहब का भी मजबूत हैं क्षेत्र में वजूद? मगर जमीन को लेकर फंस गया है पेंच? अड़ने वाले अड़ रहे हैं? कह रहे हैं डॉक्टर साहब आप चारदीवारी कर लो? लेकिन हमारी लैंड पर मत फंसाओ कोई भी पेंच?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि वाल्मीकि पार्क में बैठकर भगवा गढ़ के कई नेता नजर आ रहे थे एक जनप्रतिनिधि से नाराज? कह रहे थे कि इतना बड़ा तो मामला भी नहीं था जितना बड़ा मैटर पेश कर दिया उन्होंने सरकार वालों के पास? क्यों कहा कहने वाले ने कि भगवाधारी चेहरे कर रहे थे एक दूसरे से बात? कह रहे थे सब कुछ अपनी जगह ठीक था? फिर क्यों दिखा रहे थे जनप्रतिनिधि अपने क्रांतिकारी अंदाज?
  • क्यों कहा जनरली शर्मा जी ने गुप्ता जी से कि मंडल अध्यक्ष होता है मंडल प्रभारी से भारी? क्या बताया कि मैं खुद हूं प्रभारी मगर आदेश तो मंडल अध्यक्ष ही करता है जारी? क्या इस बात को सुन रहे थे हूल देने वाले एक प्रभारी? क्या जानबूझकर उन्हीं को सुनाई जा रही थी बात सारी?

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: