Current Crime
अन्य ख़बरें उत्तर प्रदेश

कोरोना संकट: सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा लोग खरीद रहे शराब

लखनऊ| कोरोना संकट को रोकने लिए पूर्णतया बंदी लागू की गई है। लम्बे समय बाद सोमवार से शर्तो के साथ शराब की दुकानें खोलने का असर देखने को मिला। करीब 40 दिन बाद खुलने वाली दुकानों पर लोग काफी पहले ही पहुंच गए। राजधानी लखनऊ के साथ प्रदेश के अन्य शहरों में भी शराब की दुकानें खुलने से पहले ही दुकानों के बाहर लम्बी कतारें देखी गई। इस दौरान कई जगह पर तो सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां भी उड़ रही हैं। लोग बड़ी मात्रा में शराब की बोतलें स्टॉक करने के लिए खरीद रहे हैं। हलांकि कुछ जगहों पर पुलिस भी मौजूद है जो समाजिक दूरी बनाने के लिए बराबर लोगों को टोक रही है। सोमवार को प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साथ अन्य शहरों में भी सुबह दस बजे से ही शराब की दुकानें खोली गई हैं। इसको लेकर लोगों में काफी उत्सुकता देखी गई। अधिकांश जगह पर तो लोग नौ बजे से ही लाइनों में लग गए थे।
लखनऊ के चारबाग पान दरीबा, अलीगंज, गोमतीनगर, महानगर व ठाकुरगंज में सुबह से ही शराब की दुकानों पर काफी भीड़ देखी गई। लोग शराब की दुकान खुलने से पहले खड़े थे। यहां पलिटेकनिक चौराहे पर दुकान खुलने का इंतजार कर रहे लोगों से जब नहीं रहा गया तो आबकारी विभाग की टीम से ही अनुरोध करने लगे। सभी जगह पर दुकानों के बाहर फिजिकल डिस्टेंसिंग के लिए गोले बनाए गए थे।
लखनऊ के महानगर में स्थित मॉडल शॉप में आबकारी के प्रमुख सचिव संजय भुस रेड्डी और आयुक्त पी गुरू प्रसाद ने निरीक्षण कर यहां पर सोशल डिस्टेंसिंग और रस्सी बांधने और सैनिटाइजर रखने और ग्राहकों को सैनिटाइज करने, मास्क लगाने के निर्देश दिए हैं।
लखनऊ के रेड जोन में काफी भीड़ देखी गई। बागपत और कानपुर में भी लोग सुबह से ही लंबी लाइनों में लगे थे। कुछ जगहों पर ठेकेदार खुद खड़े होकर लोगों को एक-एक कर खरीदारी करने के लिए समझाते नजर आए।
हापुड़ में लोगों की लंबी लाइन देखने को मिली। लोग सुबह 6 बजे से ही शराब खरीदने के लिए लाइनों में लगे नजर आए। सोशल डिस्टेंसिंग की परवाह किए बगैर लोग शराब खरीदने पहुंच गए।
यहां के जिला आबकारी अधिकारी महेंद्र नाथ का कहना है कि शराब की दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए दुकान मालिकों को कड़े निर्देश दिए गए हैं। आबकारी विभाग के अधिकारी ठेकों पर जाकर इसकी स्वयं निगरानी कर रहे हैं। आबकारी विभाग की तरफ से पूरी कोशिश की जा रही है कि शराब की दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो।
गाइडलाइन के अनुसार एक बार में केवल पांच लोग ही शराब की दुकान के बाहर खड़े हो सकते हैं। इसके साथ ही 6 फुट की दूरी का पालन भी अनिवार्य है। इसके अलावा गोले बनाने के भी निर्देश हैं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: