Current Crime
दिल्ली

दिल्ली में कोरोना ने तोड़े अब तक के सारे रिकॉर्ड

नई दिल्ली। राजधानी में दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण बेकाबू होकर रोज नए रिकॉर्ड बना रहा है। बीते 24 घंटे में दिल्ली में करीब 1300 नए पॉजिटिव केस और 13 मरीजों की मौत के बाद कुल मामलों की संख्या 20 हजार के पास पहुंच गई है। दिल्ली में अब तक 473 लोग इस महामारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं। राजधानी में कोरोना वायरस हर दिन विकराल रूप धारण करता जा रहा है और पिछले 24 घंटों में इसके 1295 नए मामले सामने आने से संक्रमितों का आंकड़ा 19 हजार को पार कर गया और इस दौरान 13 मरीजों की मौत से कुल मरने वालों की संख्या 473 हो गई है दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से रविवार शाम को जारी किए गए हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, पिछले 24 घंटों में वायरस के 1295 नए मामले आए और कुल संख्या 19844 पर पहुंच गई। वहीं, दिल्ली में अब तक इस संक्रमण से 8478 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और फिलहाल 10893 एक्टिव केस हैं।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, दिल्ली में कोरोना से मरने वालों की संख्या 416 थी और पिछले चौबीस घंटों में 13 लोगों की मौत हुई है, जबकि मौत के बाकी आंकड़े पहले के हैं जिन्हें मिलाकर मृतकों की संख्या 473 पहुंच गई है। दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने केंद्र सरकार के दिशार्देशों के अनुसार, राजधानी के कंटेनमेंट जोन में सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जरूरी स्वास्थ्य और अन्य उपायों को सख्ती से जारी रखने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने एक एक के बाद एक कई ट्वीट्स में कहा कि हमने दिल्ली के मुख्य सचिव, अन्य वरिष्ठ अधिकारियों और नगर निगम आयुक्तों के साथ चल रहे कोरोना वायरस की स्थिति पर बैठक की और दिल्ली में स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा की। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शनिवार को कहा था कोई ये नहीं कह सकता कि एक महीना या दो महीने और लॉकडाउन कर लो तो कोरोना ठीक हो जाएगा। कोरोना रहेगा, अगर कोरोना रहेगा तो कोरोना का इलाज करने का इंतजाम करना पड़ेगा। हमारी पूरी सरकार इस समय कोरोना के मरीजों का इलाज करने पर ध्यान दे रही है।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है, हम इसे स्वीकार करते हैं, लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि ‘आप’ की सरकार कोरोना वायरस से चार कदम आगे है। हम इस महामारी से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। हम स्थायी लॉकडाउन नहीं कर सकते। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के नाते मुझे दो चीजों पर चिंता होगी। पहली अगर दिल्ली के अंदर कोरोना की वजह से मौत का आंकड़ा बढ़ने लगे और दूसरी मान लीजिए कि कोरोना के 10,000 मरीज हैं और हमारे पास 8,000 बेड हैं तो ये हमारे लिए चिंता का विषय है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: