Current Crime
ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

कांग्रेस को नहीं संसद की मर्यादा का ख्याल: पीएम

सैय्यद अली मेंहदी
नोएडा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली मेरठ हाईवे और राष्ट्रीय राजमार्ग 24 के निर्माण एवं चौड़ीकरण का उद्घाटन करते हुए कांग्रेस एवं अन्य विरोधी दलों पर सीधा हमला बोल दिया। श्री मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि पचास- साठ साल हुकुमत करने के बाद भी कांग्रेस एवं उसके सहयोगी दलों को संसद की मर्यादा का कोई ख्याल नहीं है।
प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम में उद्घाटन के बाद जनता को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस एवं अन्य विरोधी दल भाजपा की जीत को अब तक नहीं पचा पाए हैं। जिसके चलते उन्होंने केन्द्र सरकार के विरोध का गलत तरीका अपनाया है। जिसके अंतर्गत संसद को ठप कर दिया गया। निश्चित रूप से संसद का सत्र लगातार स्थगित होना एक बड़ी हानि है क्योंकि संसद में ही देश से जुड़े विकास कार्यों के लिए फैसले किए जाते हैं। जब संसद में चर्चा एवं बहस ही नहीं होगी तब फैसले किस तरह से लिए जा सकते हैं। इसका सीधा नुकसान देश की जनता को भुगतना पड़ रहा है। श्री मोदी ने दिल्ली मेरठ हाईवे के निर्माण के बारे में कहा कि 1857 में मेरठ के क्रांतिकारियों ने दिल्ली की ओर कूच किया था। जिसके बाद पूरे देश में आजादी की जंग शुरू हो गयी थी। आज दिल्ली में मेरठ की ओर अपनी बांहे फैलाई हैं और दिल्ली में बैठी केन्द्र सरकार चाहती है कि मेरठ सहित पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश क्षेत्र को दिल्ली की ही तर्ज पर उन्नत एवं विकास के रास्ते पर दौड़ाया जाए।
रफ्तार से बढ़ेगा विकास और इंफ्रास्टक्चर
श्री मोदी ने कहा कि दिल्ली मेरठ हाईवे बनने से तीन से चार घंटे के बीच लगने वाला समय सिमट कर 40 मिनट हो जाएगा। यानी के दिल्ली से सिर्फ 40 मिनट में मेरठ पहुंचा जा सकेगा। लगभग 72 किलोमीटर लंबा ये हाईवे खुशियों की सौगात लेकर आ रहा है। निश्चित रूप से हाईवे के दोनों ओर पिकनिक स्पॉट, रेस्टोरेंट, पेट्रोल पंप, मॉल आदि का निर्माण भी होगा। जिसके चलते क्षेत्र का तेजी से विकास होगा। उन्होंने कहा कि 7500 करोड़ रूपए की इस परियोजना के निर्माण में हजारों गरीबों को भी रोजगार मिलेगा। जो कि मजदूरी एवं अन्य रूप में होगा। उनकी सरकार का पहला दृष्टिकोण रहता है कि किसी भी परियोजना या योजना का सीधा लाभ गरीब लोगों तक भी अवश्य पहुंचे।
गत 20 वर्षों में तेजी से बदले हैं हालात एवं आवश्यकता
श्री मोदी ने कहा कि गत 20 वर्ष पहले अगर किसी ग्रामीण से पूछा जाता था तो वह मांग करता था कि एक से दूसरे गांव के बीच मिटटी का ही रास्ता बना दिया जाए ताकि लोग एक से दूसरे गांव तक आसानी से आ जा सकें। लेकिन अब हालात बदल गए हैं।आज ग्रामीण क्षेत्रों में भी पक्की सड़कें आवश्यक हो गयी हैं। क्योंकि कृषि प्रधान देश होने के नाते किसान भी चाहता है कि उसकी फसल शहर में बिके जिससे उसे वाजिब दाम मिल सके।
दिल्ली से केदारनाथ तक बिछेगा सड़क का नया जाल
प्रधानमंत्री ने कहा कि दिल्ली से केदारनाथ एवं बद्रीनाथ जैसे तीर्थ स्थलों तक भक्तों को सुगम तरीके से पहुंचाना भी केंद्र सरकार की आगामी परियोजनाओं में शामिल है। इस रूट का ब्लू प्रिंट तैयार किया जा रहा है जल्द ही इस महत्वकांशी योजना का तोहफा भी माता रानी के भक्तों को दिया जाएगा।
किसानों को मिलेगा भरपूर पानी
श्री मोदी ने किसानों के प्रति संवेदना जताते हुए कहा कि उनकी सरकार का प्रयास है कि किसानों को सिंचाई के लिए बरसात पर निर्भर न रहना पड़े। वे इस दिशा में काम कर रहे हैं कि नदियों को आपस में जोड़कर जल स्त्रोत का अधिक से अधिक दोहन करते हुए हर किसान के खेत में सिंचाई के लिए भरपूर पानी पहुंचाया जाए। हालांकि ये परियोजना आसानी से पूरी नहीं हो सकती लेकिन असम्भव भी नहीं है।
मुंह मीठा करने वाले किसानों की दशा सुधरेगी
प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में पश्चिम उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों का जिक्र करते हुए कहा कि ये प्रदेश सरकारों की नाकामी है कि देश का मुंह मीठा करने वाले गन्ना किसान आज अपने ही पैसे के लिए तरस रहे हैं। इस मामले में गन्ना किसानों को इथैलोल की खेती करना भी लाभदायक हो सकता है क्योंकि उनकी सरकार ने फैसला किया है कि पैट्रो कैमिकल्स में इथैलोल की मात्रा बढ़ाकर पांच प्रतिशत कर दी गयी है। जिसके चलते इथैलोल की मांग बढ़ना निश्चित है।
साक्षात्कार खत्म करने से कम होगा भ्रष्टाचार
श्री मोदी ने कहा कि आज से ततृीय एवं चतुर्थ श्रेणी की सरकारी नौकरियों के लिए साक्षात्कार खत्म कर दिया गया है। लेकिन ये योजना अभी केवल केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई है। इस योजना का सीधा लाभ उन गरीब लोगों को मिलेगा जिनके पास इंटरव्यू में पास होने के लिए रिश्वत के पैसे या ऊंची पहुंच नहीं है। इस योजना को सभी राज्य सरकारों के द्वारा भी लागू कर देना चाहिए। जिससे भ्रष्टाचार में कमी आएगी और गरीब के बेटे को भी सरकारी नौकरी मिल सकेगी।
मुस्लिमों में भी दिखा मोदी के लिए जोश
आम तौर पर भाजपा और मुस्लिम वर्ग एक दूसरे से मेल नहीं खाते हैं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा के लिए सुबह से ही मुस्लिम वर्ग में भी काफी जोश दिखाई दिया। सभा में कई मुस्लिम महिलाएं भी शामिल हुर्इं जिन्होंने काले रंग के बुरखे पहन रखे थे। जब नरेंद्र मोदी ने मंच से उद्घाटन किया तब मुस्लिम वर्ग से आई महिलाओं ने भी खूब तालियां बजार्इं।
काले कपड़ों पर रहा प्रतिबंध, मुस्लिम महिला ने सुरक्षा कर्मी को धमकाया
प्रशासन ने कार्यक्रम में काले रंग के कपड़ों पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया था। जिसके चलते प्रधानमंत्री को सुनने के लिए आने वाले उन लोगों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ा जिन्होंने काले रंग की जैकेट, स्वेटर, शर्ट या मफलर आदि पहना था। पुलिसकर्मियों ने गेट पर ही ऐसे लोगों को रोक लिया जो कि किसी भी प्रकार का काले रंग का कपड़ा पहने थे। लेकिन आयोजन स्थल पर गेट नम्बर पांच के पास उस समय थोड़ी देर के लिए हालात असहज हो गए जब आधा दर्जन मुस्लिम महिलाएं काले रंग के बुरखे पहनकर गेट पर पहुंची। इस दौरान महिला पुलिसकर्मि ने जब उन्हें रोकने की कोशिश की तब महिलाओं ने उल्टा पुलिकर्मियों को ही धमका दिया। जिसके बाद महिलाएं बिना बुरखा उतारे ही कार्यक्रम में चली गर्इं।
प्रदेश सरकार की ओर से शाहिद मंजूर ने किया पीएम का स्वागत
नोएडा। प्रधानमंत्री का सभा स्थल पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्रम विभाग शाहिद मंजूर ने स्वागत किया इस मौके पर उनके साथ राज्यपाल राम नाइक भी मौजूद थे। जबकि श्री मोदी का स्टेज पर स्वागत करने वालों में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय उड्डयन राज्य मंत्री डा. महेश शर्मा, केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एवं गाजियाबाद सांसद वी.के. सिंह, केंद्रीय मंत्री डा. हर्ष वर्धन, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के चेयरमैन राघव चंद्रा, राज्यमंत्री राधा कृष्णन, भाजपा दिल्ली के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय, एवं दिल्ली से सांसद महेश गिरि शामिल रहे।
अटल बिहारी वाजपेयी को किया याद
श्री मोदी ने अपने भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि अटल जी ने अपने प्रधानमंत्री कार्यकाल के दौरान चतुर्भज योजना चलाई थी। जिसके चलते भारत में पूरब से पश्चिम एवं उत्तर से दक्षिण तक बड़े स्तर पर राष्ट्रीय राजमार्गों एवं अन्य सड़कों का निर्माण किया गया। ये अटल जी की ही देन है कि आज देश की सड़क व्यवस्था बेहतर है। साथ ही गांव को एक दूसरे से जोड़ने के लिए उन्होंने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना चलाई थी जिसमें देहात क्षेत्र में यातायात को सुगम बनाया था।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: