Current Crime
देश

स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण लीग-2020 में गंदे पानी के शोधन प्रबंधन पर विशेष फोकस रखें: मंत्री हर‍दीप पुरी

नई दिल्ली (ईएमएस)। आवास तथा शहरी कार्य राज्‍यमंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) हरदीप पुरी ने कहा कि स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण-२०२० लीग में गंदे पानी की सफाई तथा पुन: उपयोग और मल गाद प्रबंधन से संबंधित मानकों पर विशेष फोकस दिया है। उन्‍होंने नई दिल्‍ली में आज एसएस-२०२० लीग लांच करते हुए कहा कि देश में शहरों और नगरों की स्‍वच्‍छता का तिमाही मूल्‍यांकन किया जाएगा। इसे स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण-२०२० से एकीकृत किया जाएगा। स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण २०२० शहरी भारत का पांचवां वार्षिक स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण जनवरी-फरवरी २०२० में स्‍व्‍च्‍छ भारत मिशन-शहरी (एसबीएम-यू) के अंतर्गत आवास और शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा किया जाएगा। एसएस-२०२० लांच किये जाने के अवसर पर आवास तथा शहरी कार्य मंत्रालय के सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा, संयुक्‍त सचिव तथा एसबीएम-यू के मिशन निदेशक वी.के. जिंदल और मंत्रालय के अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी उपस्थित थे। समारोह में राज्‍यों के प्रधान सचिव, राज्‍य मिशन निदेशक तथा ५ लाख से ऊपर की आबादी वाले १०६ शहरों के पालिका आयुक्‍तों ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्‍यम से भाग लिया है।
पुरी ने कहा कि प्रत्‍येक वर्ष स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण को नया डिजाइन दिया जाता है ताकि यह सुनिश्चित हो सकें है कि प्रक्रिया मजबूत हो, लेकिन समान रूप से यह चिंता व्‍यक्‍त की जाती है कि शहर सर्वेक्षण से पहले अपनी साफ-सफाई करते हैं और बाद में साफ-सफाई में कमी आ जाती है। हम निरंतर सर्वेक्षण-एसएस २०२० लीग लांच कर रहे है, जिसमें स्‍वच्‍छता का मूल्‍यांकन पूरे वर्ष होगा। यह मूल्‍यांकन ठीक उस तरह होगा, जिस तरह स्‍कूलों और कॉलेजों में निरंतर मूल्‍यांकन किया है। इस मूल्‍यांकन को जनवरी २०२० में होने वाले व्‍यापक वार्षिक सर्वेक्षण में फीड किया जाएगा। एसएस लीग २०२० लागू करने का उद्देश्‍य शहरों के धरातल पर कार्य प्रदर्शन और सेवा स्‍तरीय कार्य प्रदर्शन की निरंतर निगरानी है।
मूल्‍यांकन प्रक्रिया की विस्‍तृत जानकारी देते हुए दुर्गा शंकर मिश्रा ने कहा कि एसएस लीग २०२० ३ तिमाहियों यानी अप्रैल-जून, जुलाई-सितम्‍बर, अक्‍टूबर-दिसम्‍बर, २०१९ में किया जाएगा। प्रत्‍येक तिमाही का भारांक २००० होगा, जिसका मूल्‍यांकन एसबीएम-यू ऑनलाइन एमएएस के मासिक नवीनतम जानकारी पर तथा १२ सेवा स्‍तर प्रगति सूचकों के नागरिक सत्‍यापन के आधार पर किया जाएगा। एक साथ दोनों मानक शहरों की तिमाही रैंकिंग का निर्धारण करेंगे। दो श्रेणियों में रैंक दिये जाएगे। पहली श्रेणी एक लाख और उससे ऊपर की आबादी वाले शहरों की होगी और दूसरी एक लाख से कम आबादी वाले नगरों की। एसएस लीग २०२० में शहरों का प्रदर्शन स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण २०२० में रैंकिंग के लिए महत्‍वपूर्ण होगा। जनवरी २०२० में होने वाले वार्षिक सर्वेक्षण में तिमाही मूल्‍यांकन का २५ प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा। इसमें सभी यूएलबी होंगे, जो ३१ दिसम्‍बर, २०१८ या उससे पहले अस्तित्‍व में थे।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: