60 फीट गहरे बोरवेल में गिरी बच्‍ची का रेसक्यू ऑपरेशन रोका गया

0
134

फर्रुखाबाद (ईएमएस)। फर्रुखाबाद के गांव रसीदपुर में बच्चों के साथ खेल रही पांच वर्षीय सीमा घर से कुछ दूरी पर बने 60 फीट गहरे बोरवेल में जा गिरी थी। सीमा को बचाने के लिए चल रही रेसक्यू ऑपरेशन पूरी तरीके से शुक्रवार रात 10:30 पर रोक दिया गया। बार-बार मिट्टी खिसकने और बालू वाली मिट्टी होने के कारण चल रहे रेसक्यू अभियान को पूरा करने में सेना को खासा दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था। इसके बाद सेना ने अपना पक्ष जिला प्रशासन के सामने रखा कि अगर हम इस रेसक्यू ऑपरेशन को आगे बढ़ाते हैं तो पूरा इलाका खाली करवाना पड़ेगा और आसपास के सभी घरों को गिराना पड़ेगा। इसके बाद शुक्रवार रात 10:30 बजे जब रेसक्यू अभियान रोका गया तो सेना ने स्थानीय प्रशासन से बातचीत की। प्रशासन से बातचीत में फैसला लिया गया अगर परिवार की सहमति हो तो रेसक्यू अभियान को रोक कर मिट्टी भरने का काम शुरू करवा दें। सीमा के चाचा, ताऊ ने इस बात को मान कर कहा जो प्रशासन को सही लगता है वह किया जाएं। तभी प्रशासन ने कहा कि खुदाई वाली जगह पर मिट्टी भर दिया जाए।
दरअसल 5वर्षीय सीमा को बोरवेल में गिरे हुए लगभग 56 घंटे हो चले थे। लेकिन सीमा का कोई आता पता नहीं चल रहा था। एक तरफ बालू वाली मिट्टी के कारण सेना को काफी परेशानी हो रही थी, तो दूसरी तरफ शुक्रवार शाम 6.40 पर मिट्टी घिसकने से ऑक्सीजन पाइप कटने से जो आस थी लोगों की वह भी टूट गई। सेना, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ के जवान बार-बार गड्ढा खोदने कि कोशिश करते रहे लेकिन वह 20 फीट से नीचे ही नहीं पहुंच पा रहे थे। सीमा के भाई ने प्रशासन पर आरोप लगाया कि प्रशासन ने डरा धमका कर उसके चाचा से यह हस्ताक्षर करवाया है, उस अपनी बहन जिंदा या मुर्दा चाहिए और मुआवजा भी चाहिए जो भी नुकसान हुआ है।