Current Crime
दिल्ली

आईजीआई एयरपोर्ट पर कैमरा पढ़ेगा यात्रियों का चेहरा

नई दिल्ली (ईएमएस)। आईजीआई एयरपोर्ट के टर्मिनल-3 पर 6 सितंबर से बायोमीट्रिक फेशियल रिकॉग्निशन का परीक्षण शुरू किया जाएगा। यह परीक्षण तीन महीने तक चलेगा और सफल होने पर इसे एयरपोर्ट के सभी टर्मिनल पर लगाया जाएगा। दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) का दावा है कि इससे यात्रियों की जांच में लगने वाले समय में कमी आएगी। इस प्रणाली को पुर्तगाल, लिस्बन की प्रौद्योगिकी कंपनी विजन बॉक्स के सहयोग से शुरू किया जा रहा है। डायल के अनुसार, फिलहाल इसका परीक्षण विस्तारा एयरलाइन के साथ केवल घरेलू यात्रियों के लिए किया जा रहा है। यह केंद्र सरकार की डिजी यात्रा योजना का ही हिस्सा है। इस प्रणाली से यात्रियों की प्रविष्टि स्वचालित रूप से चेहरे की पहचान के आधार पर की जाएगी, जिससे हवाई अड्डे के प्रवेश, सुरक्षा जांच और विमान बोर्डिंग समेत सभी जगहों पर मदद करेगी। चेहरे की पहचान की प्रक्रिया टिकट कियोस्क पर शुरू होगी। यहां उनके चेहरे का विवरण कैमरे में कैद होगा। इसके बाद यात्री द्वारा उपलब्ध कराए गए दस्तावेजों को काउंटर पर मौजूद सीआईएसएफ कर्मी जांचेंगे और सिस्टम पर उसकी पुष्टि करेंगे। इसके बाद बोर्डिंग ई-गेट्स के माध्यम से उड़ान भरने के लिए आगे जाएगा, जहां यात्री के चेहरे को पहचानने के बाद द्वार अपने आप खुल जाएगा।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: