Current Crime
ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

बिल्डर का खेल, पार्किंग की जगह स्टील्ट में भी बनाया दफ्तर

गाजियाबाद। प्रदेश में पार्किंग की बढती समस्या को देखते हुए दो साल पहले यूपी शासन के द्वारा लागू की गई स्टील्ट में पार्किंग और ढाई के स्थान पर चार मंजिला इमारत निर्माण की योजना को भी बिल्डरों ने मजाक बनाकर रख दिया है। योजना को मजाक बनाने का श्रेय जीडीए के अफसरों को जाता है। कहने के लिए जीडीए के वरिष्ठ अधिकारियों ने प्रवर्तन महकमें की कमान संभाली हुई है लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए लगता है कि वह केवल एसी कक्ष में बैठकर इलाके के स्टाफ के द्वारा की जाने वाली वसूली का हिस्सा एकत्र करने तक ही सीमित है। ताजा मामला है इंदिरापुरम के शक्तिखंड दो के भूखंड संख्या 69 का है। बीते वर्ष जनवरी 2015 में शासन की नई योजना के तहत पहला नक्शा मंजूर किया गया। इस योजना के अनुसार बिल्डर को स्टील्ट में पार्किंग सुविधा उपलब्ध कराने के साथ ही चार मंजिला इमारत का निर्माण करना था। इसमें भी अधिकत्तम 12 फ्लैट का निर्माण संभव था। बिल्डर के द्वारा स्टील्ट में पार्किंग सुविधा उपलब्ध कराने के बजाय अपना दफ्तर ही बना डाला यही नहीं 12 के बजाय 20 फ्लैट बना डाले है।  बाकायदा इमारत के स्टील्ट हिस्से में बनाए दफ्तर से फ्लैटों की बिक्री की जा रही है। प्राधिकरण के सूत्र बताते है कि जिस बिल्डर के द्वारा यह खेल किया जा रहा है वह इलाके की बिल्डर एसोसिएशन का अध्यक्ष है। जीडीए के उपाध्यक्ष विजय कुमार यादव बताते है कि मामले की जांच करायी जाएगी और जो भी संबंधित दोषी जांच में पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: