Current Crime
दिल्ली एन.सी.आर

कोरोना से जंग में आगे आया बीएमएलयू, कर रहा फेस शील्ड का निर्माण

गुरूग्राम| कोरोना के साथ जंग में अब स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय भी अपने स्तर पर योगदान देने के लिए आगे आए हैं। गुरूग्राम का बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी भी इन्हीं में से एक है। इस यूनिवर्सिटी के फैकल्टी और छात्रों ने अपने स्तर पर उन्नत फेस शील्ड का निर्माण कर उन्हें गुरूग्राम नगर निगम को दिया है। बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी के फैकल्टी और विद्यार्थियों ने प्रोफेसर ए.के. प्रसाद राव और प्रोफेसर. कल्लूरी विनायक के नेतृत्व में गुरूग्राम नगर निगम (एमसीजी) को अपने यहां बनाए गए 1000 फेस शील्ड भेंट किए, जो नगर निगम कर्मचारियों को कोरोना से लड़ने में मदद करेंगे।

यूनिवर्सिटी ने गुरूग्राम के उपायुक्त आईएएस अमित कुमार खत्री से मुलाकात की और यूनिवर्सिटी की तरफ से कोविड-19 वॉरियर्स के लिए यह फेस शील्ड भेंट कीं। ये फेस शील्ड सरकार द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों के अनुरूप तैयार किए गए हैं। थ्री डी प्रिंटिंग और इंजेक्शन मोल्डिंग तकनीक से यूनिवर्सिटी कैम्पस में ही इन फेस शील्ड्स का निर्माण किया जा रहा है ताकि तेजी से फैल रहे इस वायरस को सुविधाजनक एवं प्रभावी तरीके से नियंत्रित किया जा सके।

बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी की विभिन्न प्रयोगशालाओं से उत्पादित इन फेस शील्ड का डिजाइन इंजीनियंरिंग स्कूल के छात्रों की टीम कानव मित्तल, भाव्या टूटेजा, पी.नरसिंम्ह चंद्र, चित्रांगदा विष्णु और अमन सिंह ने फैकल्टी को-ऑर्डिनेंस प्रो. ए. के. प्रसाद राव और प्रो. कल्लूरी विनायक की देखरेख में तैयार किया जा रहा है। यूनिवर्सिटी की फैकल्टीज अब इस प्रकार की फेस शील्ड विशाल स्तर पर बनाने में सक्षम है।

बीएमयू के प्रेसिडेन्ट अक्षय मुंजाल ने कहा, “स्थानीय प्रशासन की सहायता करने के लिए हम सदैव तत्पर रहे हैं। बीएमयू में फैकेल्टी और स्टाफ पीपीई सामग्री का उत्पादन करने के लिए लगातार काम कर रहे हैं जो सरकार द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों के अनुरूप है और अब भविष्य में अधिक फेस शील्ड उत्पादित करने में सक्षम हैं।”

यूनिवर्सिटी के तकनीकी कौशल के बारे में बीएमयू के वाइस चांसलर प्रो. मनोज के.अरोड़ा ने कहा, “हमारी यूनिवर्सिटी, ऑटोमेशन और एडिटिव मैन्युफैक्च रिंग के क्षेत्र में उच्च स्तरीय उपकरणों एवं प्रयोगशालाओं से सुसज्जित है। हमारी फैकल्टीज और स्टाफ के प्रयासों एवं एजी इण्डस्ट्रीज ने हमारी थ्री डी तकनीक का प्रयोग कर यह सराहनीय उत्पाद तैयार किया है। अस्पताल और हेल्थ केयर सेन्टर, उद्योगों और वेयर हाउसेज पर कार्यरत लोगों के लिए पीपीई का होना नितांत आवश्यक हो गया है। अग्रिम पंक्ति के कोविड-19 वॉरियर्स की मदद कर हम हमेशा ही कार्यरत रहेंगे।”

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: