पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने तैयार किया मसौदा, एसपी सिटी के निलंबन के खिलाफ अधिवक्ताओं ने शुरू की भूख हड़ताल, एनडीआरएफ में मनाया गया सद्भावना दिवस, तुराबनगर व्यापार मंडल की नई कमेटी गठित, कहां चला गया भाजपा के पुराने महानगर कार्यालय का एसी, जीडीए मुखिया के आदेशों अवहेलना कर रहे हैं संपत्ति अधिकारी, भाजपा के बैनर पर नहीं होगा, स्व. अटल जी का श्रद्धाजंलि कार्यक्रम, जनरल को मिले लक्ष्मण, विरोधियों की बढ़ेगी टेंशन, एक ही रात में सरक गई छाबड़ा के पैरों तले जमीन, जनपद में धारा-144 हुई लागू,
Home / अन्य ख़बरें / भाजपा पार्षद सरदार सिंह भाटी का आरोप

भाजपा पार्षद सरदार सिंह भाटी का आरोप

दरोगा ने ऐंठे मेरे भतीजे से आठ हजार रुपये
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के बीच भगवा सरकार में छत्तीस का आंकड़ा बार-बार देखने को मिलता रहता है। अधिकारी जनप्रतिनिधियों की बातों को तवज्जो नहीं दे रहे हैं। इसका खुलासा भी कई बार जनप्रतिनिधि स्वयं कर भी चुके हैं। अब एक मामला और प्रकाश में आया है,जहां मुरादनगर थाने में एक दरोगा ने कांवड़ लेने जा रहे भाजपा के वरिष्ठ पार्षद व पूर्व निगम उपाध्यक्ष सरदार सिंह भाटी के भतीजे से मोटर साइकिल छोड़ने के नाम पर आठ हजार रुपये ऐंठ लिये। मोटर साइकिल सीज किए जाने का भय दिखाकर रुपये ऐंठने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। निगम पार्षद सरदार सिंह भाटी ने कहा कि वह पूरे मामले की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व डीजीपी से करेंगे।
बता दें कि भाजपा के वरिष्ठ पार्षद व पूर्व निगम उपाध्यक्ष सरदार सिंह भाटी का भतीजा राकेश भाटी मंगलवार देरशाम कांवड़ लेने के लिए हरिद्वार अपनी मोटर साइकिल से जा रहा था। सरदार सिंह भाटी के मुताबिक जैसे ही मुरादनगर थाने के सामने पहुंचा तो थाने में तैनात एसआई ने उसे रोक लिया। एसआई ने मोटरसाइकिल रोकने के बाद दस हजार रुपये मोटरसाइकिल छोड़ने की एवज में मांगे तो राकेश भाटी ने अपना परिचय भाजपा कार्यकर्ता के रूप में देते हुए कहा कि उनके चाचा सरदार सिंह भाटी नगर निगम में पार्षद हैं। दरोगा ने इस बात को सुनने के बाद भी अपनी डिमांड जारी रखी और मोटर साइकिल सीज किए जाने की बातें कहने लगा।
इस बात को सुनकर राकेश भाटी ने अपने पिता को फोन मिलाकर पूरी बात बताई। रात में करीब साढ़े ग्यारह बजे राकेश के पिता मौके पर पहुंचे और उन्होंने पूरी बात फोन पर सरदार सिंह भाटी को बताई तो सरदार सिंह भाटी ने कहा कि मेरी बात दरोगा से कराओ। जब यहीं बातें दरोगा को बताई गई तो उसने बात करने से साफ इंकार कर दिया। बात नहीं करने के बाद करीब रात्रि में एक बजे दरोगा ने आठ हजार रुपये लेकर उसे मौके से मोटर साइकिल लेकर जाने दिया।
विधायक और चेयरमैन की सिफारिश भी ठुकराई
सरदार सिंह भाटी के भतीजे राकेश भाटी ने उस दरोगा को बताया कि मुरादनगर के विधायक अजीत पाल त्यागी हैं और चेयरमैन विकास तेवतियां हैं, हम उन्हें जानते हैं और हम भाजपा के कार्यकर्ता हैं। इस बात को सुनने के बाद भी दरोगा अपनी बात पर अड़ा रहा है और उसने कहा कि विधायक और चेयरमैन के परिचित होने से कोई लाभ नहीं मिलेगा।
दरोगा के व्यवहार से हंू आहत
भाजपा के वरिष्ठ पार्षद सरदार सिंह भाटी ने कहा कि जिस तरह से एक दरोगा ह ने व्यवहार किया है उससे वह पूरी तरह आहत हैं। सबसे पहली बात मेरा भतीजा राकेश भाटी कांवड़ लेने के लिए जा रहा था। ऐसे में उसकी मोटर साइकिल रोकने का कोई औचित्य नहीं बनता है, यदि बनता भी है तो जिस तरह से उससे पैसे की वसूली की गई वह पूरी तरह से गलत है। पार्टी के नेताओं से बात करने से इंकार करना क्या पुलिस अधिकारियों की हठधर्मिता को नहीं दर्शा रहा है। पूरे मामले की शिकायत मेरे द्वारा सीएम योगी आदित्यनाथ और डीजीपी से की जायेगी और दोषी दरोगा के खिलाफ सख्त कार्रवाई कराई जायेगी।

Check Also

तुराबनगर व्यापार मंडल की नई कमेटी गठित

Share this on WhatsAppकर्मवीर नागर बने अध्यक्ष, रजनीश बंसल बने चेयरमैन, संजीव सेठी प्रचार मंत्री …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *