Current Crime
स्पोर्ट्स

ताने और दबाने की कोशिशों की वजह से मैंने ये मुकाम हासिल किया : राज्‍यवर्धन सिंह राठौड़

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारत सरकार ने 2020 और 2024 ओलंपिक में ज्‍यादा से ज्‍यादा मेडल लाने के लिए टारगेट ओलंपिक पोडियम स्‍कीम (टॉप्‍स) की पहल की है, जिसके तहत खिलाड़ियों को प्रैक्टिस के लिए सरकार की तरफ से मदद मिलती है। जबकि ओलंपिक में मेडल लाने या फिर खिलाड़ियों को भरपूर सुविधाएं देने के लिए सरकार ने खेल मंत्री राज्‍यवर्धन सिंह राठौड़ को जिम्‍मेदारी सौंप रखी है। यकीनन 2004 ओलंपिक में ट्रैप इवेंट में सिल्‍वर मेडल जीतने वाले राज्‍यवर्धन इस काम में जी-जान से लगे हुए हैं। केन्द्रीय खेलमंत्री राज्यवर्धन ‘खेलो इंडिया’ कैंपेन को देश भर में पहुंचाने के अलावा वह एशियन गेम्‍स में भारतीय एथलीट्स के साथ कंधा से कंधा मिलकार काम करते नजर आए। यही नहीं, कई बार उन्‍हें खिलाड़ियों को कॉफी या फिर सूप सर्व करते हुए भी देखा गया।
हालांकि, राज्‍यवर्धन सिंह राठौड़ का खुद मानना है कि खेल में कुछ भी हासिल के लिए ये मायने रखता है कि आप में उस पाने की कितनी आग है। हम सबको एक फ्यूल या फिर एनर्जी चाहिए होती है और यह आपको तय करना पड़ेगा कि आपकी ताकत क्‍या है। मुझे फिजिक्‍स का एक ही नियम पता था और वो था न्‍यूटंस थर्ड लॉ। मुझे जितना दबाओगे उतना ऊपर निकलकर आऊंगा। राठौड़ ने कहा, ‘सच कहूं तो ताने और दबाने की कोशिशों की वजह से ही मैंने खास मुकाम हासिल किया! हालांकि, उस वक्‍त लोगों की बातें मुझे बुरी लगती थीं, लेकिन अगर ऐसा ना होता हो मैं कहीं ना कहीं आराम से रह रहा होता। उन्‍होंने आगे कहा,’ जब जब सेल्‍फ रेस्पेक्ट को चुनौती मिलती है, तब आपके अंदर का चैंपियन आपको और मजबूत बनाएगा। यही नहीं, जब आपके सामने चुनौतियां आती हैं तो समझना कि आप तरक्‍की कर रहे हैं, हमेशा पॉजिटिव रहें और यही सफलता का मंत्र है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: