रूनी के रिकॉर्ड को हासिल कर पाना संभव :हैरी केन वेदा कृष्णमूर्ति ने रचा इतिहास, ऐसा करने वाली पहली भारतीय आरबीआई ने अप्रैल-सितंबर में 18.66 अरब डॉलर बाजार में बेचे दसवीं फैल लड़के ने राजकोट के युवक की फेसबुक और इंस्टाग्राम किया हेक 21 को युवाओं से रूबरू होंगे भाजपाध्यक्ष अमित शाह आकाशवाणी से आज मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की भेंटवार्ता का होगा प्रसारण रेप की घटनाओं पर हरियाणा के सीएम खट्टर की आपत्तिजनक टिप्पणी से चहुओर रोष भारत को पंड्या की कमी खलेगी : हसी आस्ट्रेलिया दौरे में भारतीय गेंदबाजों को इन खिलाड़ियों से रहना होगा सावधान न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान को 227 पर समेटा
Home / अन्य ख़बरें / मोटापे के खतरे को बढ़ा सकता है बैक्टीरिया: शोध

मोटापे के खतरे को बढ़ा सकता है बैक्टीरिया: शोध

स्टॉकहोम (ईएमएस)। मोटापे की एक और वजह सामने आई है। शोधकर्ताओं का दावा है कि आंत में पाए जाने वाले बैक्टीरिया कुछ लोगों की सेहत के लिए लाभकारी होते हैं, तो कई लोगों में मोटापे के खतरे को भी बढ़ा सकते हैं। स्वीडन के शोधकर्ताओं का कहना है कि गट (आंत) बैक्टीरिया और मोटापे के बीच नए जुड़ाव का पता लगाने के लिए पशुओं पर अध्ययन किया गया। इसमें पाया गया कि रक्त में मौजूद कुछ खास एमिनो एसिड का मोटापा और गट बैक्टीरिया माइक्रोबायोटा से जुड़ाव हो सकता है। क्लीनिकल एंडोक्रिनालॉजी एंड मेटाबोलिज्म जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, मोटापे से संबंधित मेटाबोलिक (चयापचय) का जुड़ाव आंत में पाए जाने वाले चार प्रकार के बैक्टीरिया ब्लाटिया, डोरिया, रुमिनोकोकस और एसएचए-98 से होता है। गट माइक्रोबायोटा हमारे मोटाबॉलिज्म पर असर डालता है और इसके चलते हृदय रोग और टाइप-2 डायबिटीज का खतरा भी बढ़ सकता है। शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष 674 लोगों पर किए गए अध्ययन के आधार पर निकाला है।

Check Also

कांग्रेस के झूठे वायदों पर जनता को भरोसा नहीं : नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री ने लालपुर में विशाल आमसभा को किया संबोधित

नायक नरेंद्र मोदी का आगमन शहडोल लालपुर हवाई अड्डा में कल १६ नवम्बर को हुआ। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *