Current Crime
अन्य ख़बरें ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

कब नजर आएंगे अतुल गर्ग के साथ पार्टी के चेहरे

प्रमुख संवाददाता (करंट क्राइम)
गाजियाबाद। शहर सीट से उम्मीदवार घोषित होने के बाद अतुल गर्ग को यंू तो कई बधाइयां मिली, गले में माला पड़ी। लेकिन सवाल अब यह है कि जो आगाज तमाम बधाइयों के साथ शुरू हुआ है वह अंत तक क्या माहौल बनाएगा। देखने में आ रहा है कि अतुल गर्ग खुद तो पूरी ताकत से चुनाव मैदान में उतर चुके हैं। लेकिन अभी तक उनके साथ भाजपा की टीम नजर नहीं आ रही।
वह घंटाघर गोल मार्किट से लेकर बाल्मीकि प्रतिमा तक माला अर्पण कर चुके हैं। जनता के बीच में घूम भी रहे हैं, लेकिन स्थानीय भाजपा का कोई मजबूत चेहरा उनके चुनाव में साथ नजर नहीं आ रहा है। हालांकि श्री गर्ग के खास बताए जाने वाले पूर्व भाजयुमो अध्यक्ष फेसबुक पर उनके प्रचार-प्रसार में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। वह अपनी सेल्फी वाले फोटो फेसबुक पर डालकर पूरी शिद्दत से अतुल गर्ग को चुनाव लड़वा रहे हैं। जो दावेदार इस सीट से टिकट मांग रहे थे, वह भी श्री गर्ग के साथ चुनाव में चलते नजर नहीं आ रहे।
हाल ही में एक प्रकरण घटित हुआ था, जिसमें बाल्मीकि समाज के लोगों ने मेयर की शिकायत संगठन मंत्री से पहुंचकर की थी।
शिकायत के अगले दिन ही अतुल गर्ग ने बाल्मीकि नेता प्रदीप चौहान एवं भाजपा के कुछ ही नेताओं को साथ लेकर महर्षि बाल्मीकि की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। चर्चा है कि अतुल गर्ग ने यह कदम मेयर द्वारा किए गए डैमेज को कंट्रोल करने के लिए उठाया। लेकिन देखने में आया कि जब वह मूर्ति का मार्ल्यापण करने पहुंचे तो उसमें अक्सर उनके साथ रहने वाले राजेंद्र मित्तल मेदी, संजय कुशवाहा के अलावा कुछ ही चेहरे मौजूद थे।
संजय कुशवाहा ने बाकायदा इस पोस्ट को फेसबुक पर इन शब्दों के साथ डाला कि महर्षि बाल्मीकि को मार्ल्यापण कर अतुल गर्ग जी ने चुनावी अभियान की शुरूआत की। वह अपने इस पोस्ट में कुछ ज्यादा नाम भी नहीं लिख पाए।
पार्टी में ही चर्चा है कि अगर अतुल गर्ग चुनाव अभियान की शुरूआत ही करने जा रहे थे, तो पार्टी के और भी चेहरों को अपने साथ बाल्मीकि पार्क में ले जा सकते थे। चुनाव में जब सबको साथ लेकर चलने का वक्त है तो फिर क्यों अतुल गर्ग के समर्थक चंद चेहरों को साथ लेकर बड़ा संदेश छोटा करने की कोशिश कर रहे हैं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: