दसवीं फैल लड़के ने राजकोट के युवक की फेसबुक और इंस्टाग्राम किया हेक 21 को युवाओं से रूबरू होंगे भाजपाध्यक्ष अमित शाह आकाशवाणी से आज मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की भेंटवार्ता का होगा प्रसारण रेप की घटनाओं पर हरियाणा के सीएम खट्टर की आपत्तिजनक टिप्पणी से चहुओर रोष भारत को पंड्या की कमी खलेगी : हसी आस्ट्रेलिया दौरे में भारतीय गेंदबाजों को इन खिलाड़ियों से रहना होगा सावधान न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान को 227 पर समेटा विराट ने ऋषभ के साथ साझा की तस्वीरें अखाद्य तेल का आयात 8 फ़ीसदी बढ़ा मिंत्रा जबोंग का करेगी विलय, अनंत नारायणन बने रहेंगे सीईओ
Home / अन्य ख़बरें / पुलिस से मिलकर बच्चे को अपनाने की गुहार लगाई

पुलिस से मिलकर बच्चे को अपनाने की गुहार लगाई

मुरादनगर (करंट क्राइम)। गंगनहर पटरी पर गांव डिडौली के सामने बंद पड़े एक इंजीनियरिंग कॉलेज के पास चार दिन पूर्व मिले नवजात को अपनाने के लिए कई निसंतान परिवार सामने आए हैं। इन लोगों ने गंगनहर पुलिस चौकी प्रभारी से मिलकर बच्चे को अपनाने की पेशकश की है। आशंका जताई जा रही है कि बच्चे को अपहरण कर यहां फेंका गया है। बता दें कि चार दिन पूर्व गंगनहर पटरी पर गांव डिडौली के सामने बंद पड़े एक इंजीनियरिंग कॉलेज बैग में एक नवजात झाड़ियों में पड़ा मिला था। पटरी से गुजर रहे बाइक सवार दंपति ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी। इसके बाद गंगनहर पुलिस चौकी प्रभारी विकास शर्मा ने बच्चे को अपने कब्जे में लेकर गाजियाबाद की एक संस्था को सौंप दिया था। खबर पढ़ने के बाद कई निसंतान दंपति बच्चे को अपनाने के लिए आगे आए हैं। विकास शर्मा ने बताया कि मुरादनगर की इन्द्रापुरी कॉलोनी निवासी महिला सीमा व गाजियाबाद के लालकुआं निवासी रमेशचंद्र ने बच्चे को गोद लेने की बात कही। इसके अलावा नोएड़ा निवासी एक सीए दंपति भी बच्चे को अपनाना चाहते हैं। विकास शर्मा ने बताया कि पुलिस को शक है कि बच्चे का अपहरण किया गया है। दबाव के चलते बदमाश इसे गंगनहर पटरी पर फेंककर फरार हो गए। उन्होंने बताया कि पुलिस बच्चे के असली मां-बाप को तलाशने के प्रयास कर रही है।

Check Also

खशोगी हत्या मामले में अमेरिका ने 17 सऊदी नागरिकों पर प्रतिबंध लगाया

वाशिंगटन (ईएमएस)। अमेरिकी पत्रकार जमाल खशोगी की नृशंस हत्या में संलिप्त सऊदी अरब के 17 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *