पुलवामा में सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी कर रहे स्थानीय युवकों से सेना की झड़प

0
74

नई दिल्ली (ईएमएस)। पुलवामा में सुरक्षाबलों और स्थानीय युवकों में झड़प की खबर है। रविवार सुबह मारे गए आतंकियों के समर्थन में सोमवार को युवाओं और सुरक्षाबलों के बीच झड़प हुई। सुरक्षाबलों की ओर से आंसू गैस के गोले और पैलेट गन से फायरिंग की गई, जिसमें कई युवक घायल बताए जा रहे हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
शोपियां जिले में सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में रविवार को अंसार गजवात-उल-हिंद के चार आतंकवादियों को मार गिराया गया। इस महीने एजीएच आतंकवादियों के साथ यह दूसरी मुठभेड़ थी। इसके पहले मुठभेड़ में इस नए आतंकी संगठन का कमांडर जाकिर मूसा मारा गया था। पुलवामा में जुटे युवक सेना की इस कार्रवाई का विरोध कर रहे थे। इसके बाद में युवकों की ओर से पत्थरबाजी शुरू हो गई,जिसके बाद सेना भी जवाबी कार्रवाई की। भारतीय सेना ने बीते मंगलवार को पुलवामा हमले से जुड़े एक और आतंकवादी को मार गिराया। हालांकि आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में पिछले 24 घंटों में सेना के चार जवान शहीद हो गए हैं। सेना जैश-ए-मोहम्मद के उस आतंकवादी को मार गिराने में कामयाब रही, जिसकी कार का इस्तेमाल 14 फरवरी के पुलवामा हमले में किया गया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।
पुलिस ने बताया कि जैश का आतंकवादी, जिसकी कार का इस्तेमाल लेथपोरा हमले में हुआ था, वह मंगलवार को अनंतनाग जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। जैश का आतंकवादी सज्जाद अहमद भट, जिसके कार का इस्तेमाल पुलवामा के लेथपोरा में हमले को अंजाम देने के लिए किया गया, वह वाघमा में मारे गए दो आतंकवादियों में शामिल है।