रेडिएंट लाइफ केयर और मैक्स हेल्थकेयर के प्रस्तावित विलय को ‎मिली मंजूरी

0
109

नई ‎दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने रेडिएंट लाइफ केयर और मैक्स हेल्थकेयर के प्रस्तावित सौदे को मंजूरी दे दी है। दोनों कंपनियों ने प्रस्तावित विलय की घोषणा दिसंबर 2018 में की थी। विलय के बाद संयुक्त निकाय का मूल्यांकन 7,242 करोड़ रुपये होगा। सीसीआई ने कहा कि उसने मैक्स हेल्थकेयर इंस्टीट्यूट लिमिटेड, रेडिएंट लाइफ केयर प्राइवेट लिमिटेड और केकेआर एंड कंपनी की अनुषंगी कायक इंवेस्टमेंट्स होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के प्रस्तावित सौदे को मंजूरी दे दी है। कंपनियों ने संयुक्त बयान में कहा कि विलय पूरा होने के बाद केकेआर के पास बहुलांश हिस्सेदारी होगी। रेडिएंट लाइफ केयर के प्रवर्तक अभय सोई संयुक्त कंपनी के चेयरमैन होंगे। अनलजीत सिंह की अगुवाई वाले मैक्स हेल्थकेयर के प्रवर्तक पद छोड़ देंगे। संयुक्त कंपनी में केकेआर की 51.90 प्रतिशत, अभय सोई की 23.20 प्रतिशत और मैक्स के प्रवर्तकों की सात प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। संयुक्त कंपनी मैक्स हेल्थकेयर ब्रांड का लोगो में कुछ बदलाव के साथ इस्तेमाल करते रहेगी।