Current Crime
ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

जीडीए बोर्ड बैठक को लेकर भाजपा में मच गया घमासान

आज संगठन की बैठक में होगा फैसला कौन जायेगा मेरठ
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। जीडीए में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। यहां पर पहले से ही सरकार के प्रतिनिधियों और सरकार के अधिकारियों के बीच मतभेद चल रहे हैं। कई मौकों पर ये मतभेद सामने आ चुके हैं। सरकार के एक विधायक इस बात को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिख चुके हैं। जीडीए बोर्ड के सदस्य कई बार अपना दर्द रख चुके हैं। अब एक बार फिर से जीडीए बोर्ड बैठक होनी है और बोर्ड बैठक से पहले ही घमासान मच गया है।
जीडीए बोर्ड के सदस्य बैठक के बहिष्कार तक की बात कह चुके हैं। मामला बैठक को दूसरे जिले में आयोजित कराने को लेकर है। जीडीए बोर्ड सदस्य अब बढ़ चुके हैं। पहले चुने हुए बोर्ड सदस्यों में सचिन डागर, कृष्णा त्यागी, हिमांशु मित्तल और सपा के आसिफ चौधरी थे। इसके बाद सरकार की ओर से भाजपा के पवन गोयल, डॉ. केशव त्यागी और चन्द्रमोहन शर्मा नामित जीडीए बोर्ड सदस्य बनाये गये। अब अधिकारी और जीडीए बोर्ड सदस्यों की संख्या बराबर है। सूत्र बताते हैं कि 14 जुलाई को जीडीए बोर्ड की बैठक होनी है। इस बैठक को लेकर जीडीए अधिकारियों ने बोर्ड सदस्यों से उनकी राय पूछी थी और इसके बाद राय के विपरीत जाकर बोर्ड बैठक को मेरठ में रखा गया। यहां पर सदस्यों की नाराजगी इस बात को लेकर है कि जब मेम्बरों से उनकी राय पूछी गयी और राय को तवज्जो नहीं देनी थी तो यह राय क्यों ली गयी थी। अब बताया ये जाता है कि इस मामले में जहां भाजपा में आपस में अभी तालमेल नहीं है वहीं कुछ जीडीए बोर्ड सदस्यों ने ताल ठोक कर कह दिया है कि वह इस बैठक में शामिल नहीं होंगे। मामले की गंभीरता को देखते हुए आज भाजपा महानगर कार्यालय पर संगठन की ओर से बैठक बुलाई गयी है और इस बैठक के बाद तय होगा कि जीडीए बोर्ड सदस्यों को संगठन की ओर से क्या निर्देश मिलते हैं। वहीं सूत्र बताते हैं कि जीडीए बोर्ड सदस्य तो इस मामले में प्रमुख सचिव आवास से मिलकर जीडीए अधिकारियों की शिकायत करने जा रहे हैं। बैठक के बहिष्कार की बात भी चल रही है।

सदस्य बोले संगठन सर्वोपरि मगर नहीं जायेंगे मेरठ
जीडीए बोर्ड की पहली बैठक में भी एक फैक्ट्री के लैण्ड यूज को लेकर हंगामा मचा था। तब भी जीडीए बोर्ड सदस्यों के विरोध के बावजूद जीडीए अधिकारियों ने अधिकारित बहुमत के आधार पर फैसला कर दिया था। लेकिन अब सीन दूसरा है और तीन बोर्ड सदस्य नामित होकर आ चुके हैं। जीडीए की बोर्ड बैठक को लेकर नामित जीडीए बोर्ड सदस्य चन्द्रमोहन शर्मा ने कहा कि मैं मेरठ में आयोजित जीडीए बोर्ड बैठक में भाग लूंगा। उन्होंने कहा कि मुझे विधिवत रूप से सूचना मिली है और मेरा कोई विरोध नही है। वहीं इस मामले में नामित जीडीए बोर्ड सदस्य पवन गोयल ने कहा कि आज संगठन की बैठक में इस पर निर्णय लिया जाना है। संगठन सर्वोपरि है और संगठन की बैठक में जो फैसला होगा वो मंजूर होगा। वहीं जीडीए बोर्ड सदस्य सचिन डागर ने कहा कि मेरठ में बैठक का कोरोना काल में कोई औचित्य नही है। फिर भी पार्टी बैठक में इस बात पर विचार होगा और जहां तक मेरठ जाने का सवाल है तो वह मेरठ जाकर बोर्ड बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे। जीडीए बोर्ड सदस्य कृष्णा त्यागी ने कहा कि अधिकारी जीडीए बोर्ड सदस्यों की गरिमा का ध्यान नहीं रख रहे हैं। वह मेरठ नहीं जायेंगे।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: