होली के बाद अखिलेश-मायावती करेंगे संयुक्त रैलियां -बसपा प्रमुख का अमेठी और रायबरेली से प्रत्याशी उतारने पर जोर

0
85

लखनऊ (ईएमएस)। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा सुप्रीमो मायावती से उनके लखनऊ स्थित आवास पर मुलाकात की। मुलाकात के बाद अखिलेश ने ट्वीट कर फोटो जारी की और कहा कि आज एक मुलाकात महापरिवर्तन के लिए। सूत्रों के अनुसार बैठक के दौरान दोनो के बीच विभिन्न सीटों पर प्रत्याशी उतारने और सूची जारी करने के साथ ही संयुक्त रूप से रैली करने के कार्यक्रम पर भी चर्चा की गई। बैठक में दोनों नेताओं के बीच चर्चा हुई कि वे होली के बाद से वे दोनों संयुक्त जनसभाओं में हिस्सा लेना शुरू करेंगे।
सूत्रों के अनुसार मायावती लगातार जोर दे रही हैं कि अमेठी और रायबरेली में भी अपना प्रत्याशी उतारा जाए, जबकि अखिलेश पहले कह चुके हैं कि वह रायबरेली में सोनिया गांधी और अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ अपने प्रत्याशी नहीं उतारेंगे। लेकिन मायावती कांग्रेस को किसी तरह की छूट नहीं देना चाहती हैं। वह लगातार जोर दे रही हैं कि इन सीटों पर भी पार्टी का प्रत्याशी उतारा जाए। इस मसले पर बुधवार को हुई मुलाकात में चर्चा हुई या नहीं, यह पता नहीं चल सका है।
अखिलेश यादव अपने कोटे के 16 प्रत्याशियों की सूची जारी कर चुके हैं, जबकि बसपा की सूची सोशल मीडिया पर ही वायरल हुई है। बसपा ने न उसका खंडन किया है और न ही उसकी पुष्टि की है। माना जा रहा है कि इस सूची को लेकर भी दोनों नेताओं के बीच चर्चा हुई। सूत्रों के अनुसार दोनों के अखिलेश और मायावती के बीच कुछ सीटों की अदला-बदली पर भी चर्चा की गई। इसका अर्थ यह हुआ कि सपा कुछ सीटें बसपा को दे सकती है और बसपा कुछ सीटें सपा को दे सकती है। ऐसा कुछ तकनीकी कारणों से किया जाएगा।
मायावती कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के भीम आर्मी के चंद्रशेखर रावण से मुलाकात पर खासी नाराज हैं। यह बात अलग है कि मायावती बयान जारी कर पहले ही कह चुकी हैं कि कांग्रेस से उनका किसी भी राज्य में गठबंधन नहीं है। सूत्रों के अनुसार दोनों नेताओं के बीच होली के बाद दोनों नेताओं की संयुक्त रैलियां करने पर सहमति बनी है