Current Crime
दिल्ली एन.सी.आर देश

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छात्रों को प्रमोट करने के खिलाफ विश्वविद्यालय की परीक्षा के सम्बन्ध अभाविप का निर्णय

ललितपुर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद फाइनल की परीक्षा देने वाले छात्रों को प्रमोट करने के खिलाफ है। अभाविप के जिला संयोजक पीयूष प्रताप सिंह बुन्देला ने कहा कि अगर बिना परीक्षा के विद्यार्थी को प्रमोट किया जाता है तो उसके आने वाले भविष्य में रोजगार को लेकर समस्याएं आ सकती हैं। विद्यार्थी परिषद इसके लिए ‘#studentsforevaluation’ अभियान पूरे देश में चला रही है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जिसने पूरी लगन के साथ अपनी पढ़ाई की हो और उसके डिग्री पर सामूहिक प्रोन्नति लिख दिया जाए यह उसके साथ अन्याय है। सामूहिक प्रोन्नति से प्राप्त डिग्री जीवन में हीन भावना ला सकती है। तत्कालिक सुख के चक्कर में आने वाले भविष्य को संकट में नहीं डाला जा सकता। किसी छात्र की अगर पिछले वर्ष की परीक्षा सही नहीं हुई है वह इस वर्ष मेहनत कर अच्छे नंबर लाकर अपने अंको में सुधार कर सकता है। कैंपस प्लेसमेंट में भी इंटरव्यू की अपेक्षा के मार्क्स का वेटेज अधिक होता है। विद्यार्थियों का पढ़ने का स्वभाव बना रहे इसलिए परीक्षा या फिर मूल्यांकन किसी न किसी तरीके से अवश्य होना चाहिए। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मांग करता है कि छात्र प्रमोशन से नहीं मेहनत से आगे बढ़ना चाहते हैं। प्रमोशन उनके स्वाभिमान पर चोट पहुंचाएगा। अगर कोरोना में सभी लोग संघर्ष कर रहे हैं तो विद्यार्थी भी संघर्ष करके प्रमोशन का दाग अपने कैरियर पर नहीं लगने देंगे। विद्यार्थी फिजिकल डिस्टेंसिंग तथा स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए परीक्षा या फिर मूल्यांकन की किसी अन्य कोई और पद्धति के लिए तैयार है। परंतु प्रमोशन के लिए किसी भी हाल में नहीं। प्रमोशन ना छात्र हित में है, ना शिक्षा के हित में है, न समाज के हित में है और ना ही देश हित में है। अतः अभाविप छात्रों के प्रमोशन की जगह मूल्यांकन की मांग करता है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: